प्रधानमंत्री ने उद्घाटन किया सूरत डायमंड बोर्स और सूरत हवाई अड्डे का नया टर्मिनल भवन

सूरत, गुजरात: आज, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारतीय हीरा उद्योग को विश्वस्तरीय मंच पर उत्कृष्टता की ओर बढ़ने के लिए एक महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए, सूरत के सर्वोच्च कारोबारिक केंद्र, सूरत डायमंड बोर्स,‘ और सूरत हवाई अड्डे’ के नए टर्मिनल भवन का उद्घाटन किया। इस महत्वपूर्ण क्षण को एक ऐतिहासिक मोमेंट के रूप में देखा जा रहा है, जो भारतीय हीरा और गहना उद्योग को नई ऊँचाइयों तक पहुंचाने की दिशा में महत्वपूर्ण है।

मोदी जी ने साझा किया विचार

प्रधानमंत्री ने इस मौके पर एक सार्थक भाषण देते हुए कहा, “आज भारत विश्व में एक प्रमुख विकास धारा का केंद्र है और मेड इन इंडिया’ ने एक प्रभावी ब्रांड की भूमिका निभाई है।” उन्होंने गुजरात के सूरत में नए डायमंड बोर्स के उद्घाटन को भारतीय हीरा उद्योग के लिए एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर बताया और हीरे के व्यापारिक अस्तित्व को मजबूत करने का संकल्प जताया।

हीरा सर्राफा बाजार का उत्कृष्टता

मोदी जी ने सूरत के महत्वकांक्षी हीरा सर्राफा बाजार में डायमंड बोर्स का उद्घाटन करते हुए उन हीरा उद्योगपतियों से अपील की कि वे भारतीय रत्न और आभूषण क्षेत्र को विकास की नई ऊंचाइयों पर ले जाएं। उन्होंने बताया कि डायमंड बोर्स परियोजना भारत की शक्ति और संकल्प का प्रतीक है और इसके माध्यम से सूरत विश्व के 125 देशों से जुड़ेगा।

भारतीय हीरे की गरिमा

मोदी जी ने बताया कि भारत हीरे को तराशने और इसका निर्यात करने वाला एक प्रमुख देश है, लेकिन रत्न और आभूषण के वैश्विक निर्यात में भारत की हिस्सेदारी अब भी कम है। उन्होंने विश्वस्तरीय हीरा बाजार में भारत को मजबूत करने के लिए और अधिक उत्कृष्टता को हासिल करने के लिए उद्योगपतियों से मिलकर काम करने का आश्वासन दिया।

Also read: भारत की महत्वपूर्ण पहल: संयुक्त राष्ट्र में आतंकवाद के खिलाफ नई नीति का आग्रह

हवाई अड्डे का नया टर्मिनल

सूरत हवाई अड्डे पर नवनिर्मित टर्मिनल के माध्यम से भी प्रधानमंत्री ने बताया कि इससे सूरत के हीरा और कपड़ा उद्योग को काफी फायदा होगा। नये टर्मिनल के द्वारा सूरत व्यापारिक हवाई यातायात में एक नया पृष्ठभूमि प्राप्त हुई है और इससे शहर को आर्थिक रूप से और भी सशक्त करने की उम्मीद है।

सरकार का संकल्प

प्रधानमंत्री ने साझा किया कि केंद्र सरकार बुनियादी ढांचे के और अधिक विकास के प्रति संकल्पित है और भारतीय उद्योगों को ग्लोबल प्लेयर्स बनाने के लिए विशेष योजनाएं लागू कर रही है।

निष्कर्ष

इस महत्वपूर्ण घड़ी में, प्रधानमंत्री ने सूरत को एक नये उच्चतम स्तर पर पहुंचाने का संकल्प जताया है। यह उद्घाटन सिर्फ एक स्थानीय परियोजना नहीं है, बल्कि भारतीय हीरा उद्योग के लिए एक नया मील का पत्थर है जो दुनिया भर में भारत की अगुआई को और भी मजबूत करेगा। सूरत डायमंड बोर्स और हवाई अड्डे का नया टर्मिनल भवन एक नये भविष्य की ओर कदम बढ़ाते हुए, इसे एक नए और सशक्त भारत की ओर एक महत्वपूर्ण कदम माना जा रहा है।

FAQs:

सूरत डायमंड बोर्स और हवाई अड्डे का नया टर्मिनल भवन क्या है?

उत्तर: सूरत, गुजरात में स्थित सर्वोच्च कारोबारिक केंद्र, ‘सूरत डायमंड बोर्स,’ और ‘सूरत हवाई अड्डे’ के नए टर्मिनल भवन का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किया गया है। यह भारतीय हीरा उद्योग को विश्वस्तरीय मंच पर उत्कृष्टता की दिशा में महत्वपूर्ण कदम है।

प्रधानमंत्री ने क्या साझा किया इस मौके पर?

उत्तर: प्रधानमंत्री ने बताया कि भारत विश्व में एक प्रमुख विकास धारा का केंद्र है और ‘मेड इन इंडिया’ ने एक प्रभावी ब्रांड की भूमिका निभाई है। उन्होंने सूरत में नए डायमंड बोर्स के उद्घाटन को भारतीय हीरा उद्योग के लिए महत्वपूर्ण मील का पत्थर बताया और हीरे के व्यापारिक अस्तित्व को मजबूत करने का संकल्प जताया।

हीरा सर्राफा बाजार के बारे में क्या कहा गया?

उत्तर: प्रधानमंत्री ने सूरत के हीरा सर्राफा बाजार में नए डायमंड बोर्स के उद्घाटन के मौके पर हीरा उद्योगपतियों से अपील की कि वे भारतीय रत्न और आभूषण क्षेत्र को विकास की नई ऊंचाइयों पर ले जाएं।

हवाई अड्डे के नए टर्मिनल का महत्व क्या है?

उत्तर: सूरत हवाई अड्डे पर नवनिर्मित टर्मिनल के माध्यम से भी प्रधानमंत्री ने बताया कि इससे सूरत के हीरा और कपड़ा उद्योग को काफी फायदा होगा, और इससे शहर को आर्थिक रूप से और भी सशक्त करने की उम्मीद है।

सरकार का संकल्प क्या है?

उत्तर: प्रधानमंत्री ने साझा किया कि केंद्र सरकार बुनियादी ढांचे के और अधिक विकास के प्रति संकल्पित है और भारतीय उद्योगों को ग्लोबल प्लेयर्स बनाने के लिए विशेष योजनाएं लागू कर रही है।

इस उद्घाटन का महत्व क्या है?

उत्तर: इस महत्वपूर्ण घड़ी में, प्रधानमंत्री ने सूरत को एक नये उच्चतम स्तर पर पहुंचाने का संकल्प जताया है, जिससे भारतीय हीरा उद्योग को और भी मजबूत किया जाएगा और दुनिया भर में भारत की अगुआई को बढ़ावा मिलेगा।

इस घड़ी का सारांश क्या है?

उत्तर: सूरत डायमंड बोर्स और हवाई अड्डे का नया टर्मिनल भवन एक नए भविष्य की ओर कदम बढ़ाते हुए, इसे एक नए और सशक्त भारत की ओर एक महत्वपूर्ण कदम माना जा रहा है।

Please follow and like us:
error700
fb-share-icon5001
Tweet 20
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर