This site for your education.

The New Sites

Any query

thenewsites20@gmail.com

Happiness is the highest level of success.

DOTs Simplified Certification Scheme: डीओटी की सरलीकृत प्रमाणीकरण योजना के तहत 37 नए उत्पादों को शामिल किया गया, मूल्यांकन शुल्क पूरी तरह माफ

DOTs Simplified Certification Scheme: दूरसंचार विभाग (DOT) ने नए साल की शुरुआत में एक महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए DOT की तकनीकी शाखा द्वारा दूरसंचार इंजीनियरिंग केंद्र (TEC) के अंतर्गत 37 नए उत्पादों को सरलीकृत प्रमाणन योजना (SCS) के तहत लाया गया है।

प्रमाणीकरण के समय में कमी

इस योजना के अंतर्गत, प्रमाणीकरण के लिए लगने वाला समय आठ सप्ताह से घटाकर दो सप्ताह किया गया है, जिससे उत्पादों को बाजार में तेजी से प्रस्तुत किया जा सकेगा। यह कदम उद्यमियों और उत्पादकों को नए उत्पादों को बाजार में प्रविष्टि करने में सहारा प्रदान करेगा और कारोबार में नई ऊर्जा भरेगा।

मूल्यांकन शुल्क में 100% माफी

इस नई पहल का हिस्सा बनते हुए, मूल्यांकन शुल्क को पूरी तरह माफ कर दिया गया है। यह स्वीकृति मूल उपकरण निर्माताओं (OEM) और आवेदकों के लिए एक बड़ी राहत है, क्योंकि इससे आवेदन शुल्क में 80 प्रतिशत से अधिक की कमी आएगी, जिससे अनुपालन भार और कम हो जाएगा।

ये भी पढ़ें: Desert Cyclone joint Military Exercise: भारत-यूएई के बीच ‘डेजर्ट साइक्लोन’ संयुक्त सैन्य अभ्यास की धमाकेदार शुरुआत

नए उत्पादों का विस्तार

इस प्रमाणन के अंतर्गत लाए गए 37 नए उत्पादों में मीडिया गेटवे, आईपी सुरक्षा उपकरण, आईपी टर्मिनल, ऑप्टिकल फाइबर या केबल, ट्रांसमिशन टर्मिनल उपकरण आदि शामिल हैं। SCS के तहत अब कुल उत्पाद 12 से बढ़कर 49 हो गए हैं, जो उत्पादकों को और भी बड़े विकल्पों का सौभाग्य प्रदान करेगा।

ER के लिए प्रशासनिक शुल्क में कमी

इसके अलावा, 01 जनवरी 2024 से GCS और SCS श्रेणी के निरपेक्ष MTCT-E के तहत प्रस्तुत आवेदनों के आधार पर आवश्यक जरूरत (ER) के लिए TEC द्वारा केवल प्रशासनिक शुल्क लिया जाएगा। यह उद्यमियों को अधिक आसानी से ER के लिए आवेदन करने का सुअवसर प्रदान करेगा और उन्हें शुल्क में कमी का भरपूर लाभ होगा।

ये भी पढ़ें: Hit-and-run cases: केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला ने अखिल भारतीय मोटर वाहन संघ के साथ बैठक की

सशक्त दूरसंचार सेक्टर

वर्तमान में, 60 दूरसंचार और नेटवर्किंग उत्पाद हैं जिन्हें MTCT-E शासन के तहत अधिसूचित किया गया है। इस नए कदम से दूरसंचार सेक्टर को और भी सशक्त बनाने के लिए प्रमाणन प्रक्रिया में हुई सुधार से उत्पादों की गुणवत्ता और स्वीकृति की गति में वृद्धि होगी।

इस योजना से उद्यमियों को मिलने वाले लाभों की बात करते हुए, DOT की सरकारी स्रोतों ने यह आश्वासन दिया है कि नए साल में दूरसंचार सेक्टर को नई ऊर्जा और गति मिलेगी। इस प्रमाणन योजना के माध्यम से, सरकार ने उत्पादकों को पूर्ण समर्थन प्रदान करने का संकल्प लिया है और देश को एक मजबूत और सशक्त दूरसंचार संवाद का साकारात्मक अनुभव कराने का दृष्टिकोण रखा है।

यह सार्थक कदम है जो दूरसंचार सेक्टर को आगे बढ़ाने में मदद करेगा और नए विकल्पों के साथ उत्पादकों को प्रेरित करेगा। इस प्रमाणन योजना से जुड़े नवीनतम अपडेट्स के लिए हमारे साथ बने रहें।

ये भी पढ़ें: Electoral Bonds: चुनावी बांड SBI की 29 शाखाओं में आज से शुरू होगी 30वीं किस्त की बिक्री, 11 जनवरी तक उपलब्ध

सामान्य प्रश्न (FAQs) डीओटी की सरलीकृत प्रमाणीकरण योजना के बारे में

प्रमाणन क्या है और इसका महत्व क्या है?

उत्तर: प्रमाणन एक प्रक्रिया है जिसमें उत्पादों की गुणवत्ता और मानकों का मूल्यांकन किया जाता है। यह सुनिश्चित करता है कि उत्पादों और सेवाओं को आवश्यक मानकों के अनुसार तैयार किया गया है।

37 नए उत्पादों के साथ प्रमाणन योजना क्या है?

उत्तर: दूरसंचार इंजीनियरिंग केंद्र (टीईसी) ने डीओटी के तहत 37 नए उत्पादों को सरलीकृत प्रमाणन योजना (एससीएस) के तहत लाया है। इससे प्रमाणन के लिए समय कम होगा और उत्पादकों को और भी बड़े विकल्पों का सौभाग्य होगा।

प्रमाणन से जुड़े मूल्यांकन शुल्क में क्या बदलाव किया गया है?

उत्तर: इस नई पहल के तहत, मूल्यांकन शुल्क को पूरी तरह माफ कर दिया गया है। इससे उत्पादकों को 80 प्रतिशत से अधिक की कमी होगी, जिससे अनुपालन भार और कम होगा।

नए उत्पादों में कौन-कौन से शामिल हैं?

उत्तर: इन उत्पादों में मीडिया गेटवे, आईपी सुरक्षा उपकरण, आईपी टर्मिनल, ऑप्टिकल फाइबर या केबल, ट्रांसमिशन टर्मिनल उपकरण आदि शामिल हैं। एससीएस के तहत अब कुल उत्पाद 12 से बढ़कर 49 हो गए हैं।

ईआर के लिए प्रशासनिक शुल्क में कैसी कमी की गई है?

उत्तर: 01 जनवरी 2024 से जीसीएस और एससीएस श्रेणी के निरपेक्ष एमटीसीटी-ई के तहत प्रस्तुत आवेदनों के आधार पर ईआर के लिए टीईसी द्वारा केवल प्रशासनिक शुल्क लिया जाएगा। इससे आवेदकों को शुल्क में कमी होगी और ईआर के लिए आवेदन करना आसान होगा।

दूरसंचार सेक्टर को कैसे सशक्त बनाए रखा जा रहा है?

उत्तर: यह प्रमाणन योजना दूरसंचार सेक्टर को सशक्त बनाने का प्रयास है और नए विकल्पों के साथ उत्पादकों को प्रेरित करने का कारण बनेगा। इससे उत्पादों की गुणवत्ता में भी सुधार होगी और सेक्टर में नई ऊर्जा आएगी।

सरकार ने इस प्रमाणन योजना के माध्यम से कौन-कौन से लाभ प्रदान किए हैं?

उत्तर: इस योजना से उत्पादकों को मिलने वाले लाभों की बात करते हुए, सरकारी स्रोतों ने यह आश्वासन दिया है कि नए साल में दूरसंचार सेक्टर को नई ऊर्जा और गति मिलेगी।

 

error: Content is protected !!
झारखंड में 4919 कॉन्स्टेबल पदों पर भर्ती DSSSB ने TGT में 5118 रिक्त पदों पर भर्ती निकाली नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया में निकली भर्ती MP पावर जनरेटिंग कंपनी में अप्रेंटिस वैकेंसी जनरल इंश्योरेंस कॉर्पोरेशन में स्केल I ऑफिसर की वैकेंसी
झारखंड में 4919 कॉन्स्टेबल पदों पर भर्ती DSSSB ने TGT में 5118 रिक्त पदों पर भर्ती निकाली नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया में निकली भर्ती MP पावर जनरेटिंग कंपनी में अप्रेंटिस वैकेंसी जनरल इंश्योरेंस कॉर्पोरेशन में स्केल I ऑफिसर की वैकेंसी