Prime Ministers Award 2023: प्रधानमंत्री पुरस्कार 2023, लोक प्रशासन में उत्कृष्टता की पहल के बारे में कुछ बाते जो आपको जाननी चाहिए

Prime Ministers Award 2023: सरकार ने लोक प्रशासन में उत्कृष्टता को प्रोत्साहित करने के लिए प्रधानमंत्री पुरस्कार 2023 योजना की शुरुआत की है, जिसका उद्देश्य देशभर में सिविल सेवकों के अनुकरणीय कार्यों की मान्यता और पुरस्कृति करना है। इस योजना के तहत, जिलों के समग्र विकास में सिविल सेवकों के योगदान को मान्यता देने के लिए कई श्रेणियों में पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे।

श्रेणी 1: समग्र विकास का पुरस्कार

इस श्रेणी में, 1 से 12 प्राथमिक क्षेत्र कार्यक्रमों के तहत जिलों के समग्र विकास में सिविल सेवकों के योगदान को मान्यता देने के लिए 10 पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे।

श्रेणी 2: नवीन कार्य का पुरस्कार

केन्द्रीय मंत्रालयों, विभागों, राज्यों, और जिलों में नवीन कार्यों के तहत, इस श्रेणी में 6 पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे।

ये भी पढ़ें: Member of UPSC: श्री शील वर्धन सिंह ने UPSC के सदस्य के रूप में पद और गोपनीयता की शपथ ली

पीएम पुरस्कार वेब पोर्टल: पंजीकरण की तारीखें

प्रधानमंत्री पुरस्कार वेब पोर्टल पर पंजीकरण और नामांकन जमा कराने के लिए 3 जनवरी 2024 से पंजीकरण शुरू हो गया है। नामांकन की अंतिम तिथि 31 जनवरी 2024 है। सभी सिविल सेवकों से अनुरोध है कि वे इस अद्वितीय अवसर का उपयोग करें और अपने योगदान को प्रमोट करें।

प्रशासनिक सुधार और लोक शिकायत विभाग का अभियान

योजना में व्यापक भागीदारी को प्रोत्साहित करने के लिए प्रशासनिक सुधार और लोक शिकायत विभाग ने एक अभियान शुरू किया है। इस अभियान के तहत, केन्द्रीय मंत्रालयों, राज्य सरकारों और जिला कलेक्टरों के साथ आउटरीच बैठकों की श्रृंखला आयोजित की गई है, जिसमें उन्हें लोक प्रशासन में उत्कृष्टता के लिए प्रधानमंत्री पुरस्कार 2023 के लिए वेब पोर्टल https://pmawards.gov.in पर नामांकन जमा कराने की सलाह दी गई है।

ये भी पढ़ें: One Vehicle One Fastag Initiative: एक वाहन एक फास्टैग, भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की नई पहल

पुरस्कार और पुरस्कृति: इनाम और सम्मान

लोक प्रशासन में उत्कृष्टता के लिए प्रधानमंत्री पुरस्कार 2023 में विजेता प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सिविल सेवकों को एक ट्राफी, एक स्क्रॉल, और पुरस्कृत जिला/सगठन को 20 लाख रूपये की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। इस इनाम का उद्देश्य इसे जन कल्याण के किसी भी क्षेत्र में परियोजनाओं/कार्यक्रमों के क्रियान्वयन अथवा संसाधनों की कमी को पूरा करने में किया जाएगा।

प्रधानमंत्री पुरस्कार योजना का इतिहास और प्रदर्शन: 2019-2023

वर्ष 2019-2023 के दौरान सरकार ने लोक प्रशासन में उत्कृष्टता के लिए प्रधानमंत्री पुरस्कार योजना के तहत 62 पुरस्कार प्रदान किए हैं। वर्ष 2022 में योजना के तहत 743 जिला कलेक्टरों ने 2,520 नामांकन जमा कराये जिसमें से 15 नामांकन को प्रधानमंत्री पुरस्कार प्रदान किया गया। प्रधानमंत्री ने सिविल सेवा दिवस के अवसर पर ये पुरस्कार प्रदान किये।

ये भी पढ़ें: NaMo New Voter Registration Portal: नमो नव-मतदाता पंजीकरण पोर्टल का शुभारंभ, भाजपा अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने किया पहला कदम

पुरस्कार विजेताओं का सम्मान: राष्ट्रीय और क्षेत्रीय प्रदर्शन

पुरस्कार विजेताओं के नामांकन को संसद टेलीविजन की ‘‘अभिनव पहल’’ श्रृंखला के तहत मासिक राष्ट्रीय सुशासन वेबिनार सीरीज और राज्यों की राजधानियों में बेहतर प्रशासन व्यवहारों को दर्शाने वाले क्षेत्रीय सुशासन सम्मेलनों जैसे राष्ट्रीय मंच पर प्रस्तुत किया जाता है।

इस प्रधानमंत्री पुरस्कार 2023 योजना के माध्यम से सरकार ने सिविल सेवकों को उत्कृष्टता की प्रेरणा देने और उन्नति में सहयोग करने का संकल्प लिया है। यह योजना न केवल सिविल सेवकों की मेहनत और समर्पण को पहचानने का एक माध्यम है, बल्कि यह उन्हें और भी प्रेरित करेगी ताकि वे समाज के लाभ के लिए अपने क्षेत्र में सकारात्मक परिवर्तन लाने का कार्य जारी रखें।

समाप्ति से पहले आखिरी विचार: सिविल सेवकों के उत्कृष्टता की पहचान

प्रधानमंत्री पुरस्कार 2023 की योजना ने सिविल सेवकों को उनके उत्कृष्टता और समर्पण को मान्यता देने का एक और मौका प्रदान किया है। इस योजना के माध्यम से सरकार ने सार्वजनिक प्रशासन में नई ऊर्जा और उत्साह भरने का प्रयास किया है ताकि देश का प्रशासनिक तंत्र और लोकप्रशासन मजबूती से काम कर सके।

इस योजना के माध्यम से नए उदाहरणों के माध्यम से हमारे सिविल सेवकों को सम्मान और प्रेरणा मिलेगी, जो एक सकारात्मक और उत्कृष्ट प्रशासन की दिशा में काम कर रहे हैं। इस पुरस्कार के माध्यम से हम सभी को यहां तक की अद्भुत कार्यों की जानकारी प्राप्त होगी और हम सभी उनके समर्पण और उत्कृष्टता को सलामी देते हैं।

इस नए प्रयास के साथ, हम उम्मीद करते हैं कि लोक प्रशासन में उत्कृष्टता के प्रमोट करने का संकल्प पूरे देश में सार्थक होगा और सिविल सेवक अपने क्षेत्र में नए आयाम स्थापित करेंगे। इस प्रयास के फलस्वरूप, हम समृद्धि और सामरिक समृद्धि की ओर एक कदम आगे बढ़ेंगे।

ये भी पढ़ें: Today current affairs in Hindi 15 January 2024

सामान्य प्रश्न (FAQs) प्रधानमंत्री पुरस्कार 2023  के बारे में

  1. प्रधानमंत्री पुरस्कार 2023 योजना क्या है?

    उत्तर: प्रधानमंत्री पुरस्कार 2023 योजना सरकार द्वारा शुरू की गई है, जिसका उद्देश्य लोक प्रशासन में उत्कृष्टता को प्रोत्साहित करना है। इस योजना के तहत, सिविल सेवकों को उनके अनुकरणीय कार्यों के लिए पुरस्कृत किया जाएगा।

  2. प्रधानमंत्री पुरस्कार के लिए नामांकन कैसे करें?

    उत्तर: पीएम पुरस्कार वेब पोर्टल https://pmawards.gov.in पर जाकर 3 जनवरी 2024 से पंजीकरण कर सकते हैं। नामांकन की अंतिम तिथि 31 जनवरी 2024 है।

  3. कौन-कौन सी श्रेणियों में प्रधानमंत्री पुरस्कार 2023 प्रदान किए जाएंगे?

    उत्तर: श्रेणी 1 में 1 से 12 प्राथमिक क्षेत्र कार्यक्रमों के तहत जिलों के समग्र विकास में सिविल सेवकों के योगदान को मान्यता देने के लिए 10 पुरस्कार और श्रेणी 2 में केन्द्रीय मंत्रालयों, विभागों, राज्यों, और जिलों में नवीन कार्यों के तहत 6 पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे।

  4. प्रधानमंत्री पुरस्कार के विजेताओं को कैसे सम्मानित किया जाएगा?

    उत्तर: पुरस्कार विजेताओं को संसद टेलीविजन की ‘‘अभिनव पहल’’ श्रृंखला के तहत मासिक राष्ट्रीय सुशासन वेबिनार सीरीज और राज्यों की राजधानियों में बेहतर प्रशासन व्यवहारों को दर्शाने वाले क्षेत्रीय सुशासन सम्मेलनों जैसे राष्ट्रीय मंच पर सम्मानित किया जाएगा।

  5. प्रधानमंत्री पुरस्कार योजना का इतिहास क्या है और कितने पुरस्कार पहले दिए गए हैं?

    उत्तर: वर्ष 2019-2023 के दौरान सरकार ने लोक प्रशासन में उत्कृष्टता के लिए प्रधानमंत्री पुरस्कार योजना के तहत 62 पुरस्कार प्रदान किए हैं। वर्ष 2022 में इस योजना के तहत 743 जिला कलेक्टरों ने 2,520 नामांकन जमा कराये जिसमें से 15 नामांकन को प्रधानमंत्री पुरस्कार प्रदान किया गया।

  6. प्रधानमंत्री पुरस्कार 2023 के लिए पात्रता मानदंड क्या हैं?

    उत्तर: प्रधानमंत्री पुरस्कार 2023 के लिए पात्रता मानदंड निम्नलिखित हैं:
    सिविल सेवकों को उनके अनुकरणीय और उत्कृष्ट कार्यों के लिए मान्यता मिलनी चाहिए।
    उन्होंने अपने क्षेत्र में समृद्धि और सामाजिक समृद्धि के लिए सकारात्मक परिवर्तन लाने का प्रयास किया हो।

  7. प्रधानमंत्री पुरस्कार योजना किस प्रकार से समृद्धि और सामरिक समृद्धि को बढ़ावा देगी?

    उत्तर: इस योजना के माध्यम से, सिविल सेवकों को उत्कृष्टता की प्रेरणा देने और सामाजिक समृद्धि के क्षेत्र में सहयोग करने का संकल्प किया गया है। इससे नए उदाहरणों के माध्यम से सिविल सेवकों को सम्मान और प्रेरणा मिलेगी, जो एक सकारात्मक और उत्कृष्ट प्रशासन की दिशा में काम कर रहे हैं।

  8. प्रधानमंत्री पुरस्कार योजना के माध्यम से सिविल सेवकों को कैसे पहचाना जाएगा?

    उत्तर: इस योजना के माध्यम से सिविल सेवकों को उनके उत्कृष्टता और समर्पण को मान्यता देने का एक और मौका प्रदान किया जाएगा। इस योजना के फलस्वरूप, नए आयाम स्थापित करने के लिए सिविल सेवक और उनके क्षेत्र में प्रशासनिक तंत्र को मजबूत करने में सहायक होगी।

  9. लोक प्रशासन में उत्कृष्टता कैसे प्राप्त करें?

    उत्तर: लोक प्रशासन में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए सिविल सेवकों को अपने क्षेत्र में उत्कृष्टता और समर्पण के साथ काम करना होता है। उन्हें अनुकरणीय कार्यों के माध्यम से समाज के लाभ के लिए योजनाओं और कार्यक्रमों में योगदान देना चाहिए।

  10. सिविल सेवकों के लिए प्रधानमंत्री पुरस्कार 2023 की योजना कैसे काम करेगी?

    उत्तर: प्रधानमंत्री पुरस्कार 2023 की योजना में, सिविल सेवकों के द्वारा किए गए योगदान को मान्यता देने और पुरस्कृत करने के लिए पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे। इन पुरस्कारों की तीनों कड़ियों में विजेता सिविल सेवकों को ट्राफी, स्क्रॉल, और 20 लाख रूपये की प्रोत्साहन राशि मिलेगी।

  11. प्रधानमंत्री पुरस्कार 2023 के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि क्या है?

    उत्तर: प्रधानमंत्री पुरस्कार 2023 के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 31 जनवरी 2024 है। इससे पहले सिविल सेवकों को आवेदन करना आवश्यक है ताकि वे इस उत्कृष्टता की पहचान के लिए योजना में शामिल हो सकें।

Please follow and like us:
error700
fb-share-icon5001
Tweet 20
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर
According to the personal data (privacy) ordinance, any individual has the right :.