Member of UPSC: श्री शील वर्धन सिंह ने UPSC के सदस्य के रूप में पद और गोपनीयता की शपथ ली

Member of UPSC: पूर्व IPS अधिकारी श्री शील वर्धन सिंह ने आज UPSC के सदस्य के रूप में पद और गोपनीयता की शपथ ली है। उनकी 37 वर्षों तक की विशिष्ट सेवा के बाद यह कदम उनके उद्यमी और सुरक्षा परिप्रेक्ष्य के साथ जुड़ा है। इस महत्वपूर्ण क्षण में, उन्होंने UPSC के मुख्य भवन के सेंट्रल हॉल में शपथ लेते हुए उपस्थित लोगों को गोपनीयता और राष्ट्र सेवा के प्रति अपने समर्पण का इज़हार किया। इस मौके पर उन्हें UPSC के अध्यक्ष डॉ. मनोज सोनी ने शपथ दिलाई।

श्री शील वर्धन सिंह की विशेषज्ञता और योगदान

श्री शील वर्धन सिंह एक अनुभवी खुफिया विशेषज्ञ हैं, जो रणनीतिक सोच, वैश्विक सुरक्षा परिदृश्य और आंतरिक सुरक्षा में विशेषज्ञता के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने नवंबर 2021 से दिसंबर 2023 तक CISF के महानिदेशक के रूप में सेवा की और अपने नेतृत्व से सुरक्षा में वृद्धि करने का कार्य किया।

ये भी पढ़ें: One Vehicle One Fastag Initiative: एक वाहन एक फास्टैग, भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की नई पहल

राष्ट्रीय सुरक्षा में योगदान

श्री शील वर्धन सिंह ने राष्ट्रीय सुरक्षा के सभी क्षेत्रों में काम किया है और उच्च स्तर की खुफिया जानकारी एकत्र करने, विश्लेषण करने और राष्ट्रीय सुरक्षा नीति निर्माण में योगदान दिया है। उनकी पोस्टिंग के दौरान, भारतीय उच्चायोग ढाका में, उन्होंने भारत की अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा स्थिति को मजबूत किया।

सम्मान और पहचान

उन्हें वर्ष 2004 में सराहनीय सेवा के लिए राष्ट्रपति पुलिस पदक और वर्ष 2010 में विशिष्ट सेवा के लिए राष्ट्रपति पुलिस पदक से सम्मानित किया गया है। उनकी योगदान को पहचानते हुए इस समय के लिए उन्हें UPSC के सदस्य के रूप में चयन किया गया है, जो एक और महत्वपूर्ण चरण है उनके उद्यमी करियर में।

ये भी पढ़ें: NaMo New Voter Registration Portal: नमो नव-मतदाता पंजीकरण पोर्टल का शुभारंभ, भाजपा अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने किया पहला कदम

शिक्षा और साहित्य

अंग्रेजी ऑनर्स में स्नातक, श्री शील वर्धन सिंह ने प्रतिष्ठित वेस्ट यॉर्कशायर कमांड कोर्स, यूके और नेशनल डिफेंस कॉलेज, भारत से किया है। उन्होंने लघुकथाओं के दो खंड लिखे हैं और टाइम्स ऑफ इंडिया में ‘स्पीकिंग ट्री’ कॉलम में नियमित तौर पर लिखते हैं। उनका पॉडकास्ट- ‘द डायलॉग विदइन’ जीवन पर उनके अनूठे दृष्टिकोण को सामने लाता है। श्री शील वर्धन सिंह एक उत्साही खिलाड़ी, साहित्य एवं सांस्कृतिक अन्वेषण के प्रति जिज्ञासु और एक समर्पित योग प्रैक्टिशनर हैं।

नई UPSC की ओर पलटना

श्री शील वर्धन सिंह की नई UPSC की नौकरी उनके व्यापक ज्ञान, दक्षता, और नेतृत्व क्षमताओं का परिचायक है। उनका अनुभव विभिन्न क्षेत्रों में होने के बावजूद, उनकी क्षमता और समर्पण ने उन्हें एक विशेषज्ञ बना दिया है जो राष्ट्र सेवा में और भी महत्वपूर्ण योगदान देने के लिए प्रेरित कर रहा है।

ये भी पढ़ें: Magh Bihu: माघ बिहू, असम में फसल कटाई का धूमधाम से मनाया जा रहा है- जानिए 5 रोचक तथ्य

समर्पित सेवा का संकलन

श्री शील वर्धन सिंह ने CISF के महानिदेशक के रूप में सेवा करते हुए उद्योग, वित्त, और अन्य उद्योगों में सुरक्षा बढ़ाने में अपनी अद्भुत योगदान से साबित किया है। उनकी नेतृत्व क्षमता ने CISF को महत्वपूर्ण और उद्दीपक समस्याओं का सामना करने में मार्गदर्शन किया है और सुरक्षा मामलों में नए दृष्टिकोण को प्रोत्साहित किया है।

साहित्य और कला में रूचि

श्री शील वर्धन सिंह की साहित्यिक रूचि और उनका सांस्कृतिक अन्वेषण भी उन्हें एक अद्वितीय व्यक्तित्व बनाते हैं। उनके लघुकथाएं और लेखन में उनका योगदान साहित्य प्रेमियों को प्रेरित करता है और उनका ‘स्पीकिंग ट्री’ कॉलम टाइम्स ऑफ इंडिया में रीडर्स को विचारों की गहराईयों तक ले जाता है।

समर्थन और प्रेरणा

श्री शील वर्धन सिंह का प्रत्येक क्षेत्र में उनका समर्थन और प्रेरणा देने का यह इरादा है कि वह नए दिशा सूचित करते हैं और राष्ट्र सेवा में और भी सकारात्मक बदलाव लाने में सहायक होते हैं। उनकी साहसिकता, विशेषज्ञता, और उत्साह से भरी प्रेरणा से युवा पीढ़ी को एक नए और सकारात्मक दृष्टिकोण के साथ चलने के लिए प्रेरित किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें: The Beach Games 2024: दीव में आयोजित द बीच गेम्स 2024, जानिए कौन-कौन से राज्य ने दिखाया शानदार प्रदर्शन

निष्कर्ष

पूर्व IPS अधिकारी श्री शील वर्धन सिंह का UPSC के सदस्य के रूप में चयन एक नए क्षेत्र में उनके उद्यमी करियर का एक और महत्वपूर्ण पल है। उनकी सेवा, नेतृत्व, और योगदान से भरी प्रेरणा के साथ, वह राष्ट्र सेवा में और भी महत्वपूर्ण कार्य करने के लिए समर्थ हैं। उनकी उद्यमी राह में आगे बढ़ते हुए, उन्हें और भी उच्चतम परिचयकों में एक मान्यता प्राप्त होने का सम्भावना है।

इस समर्थन और योगदान से भरपूर मार्गदर्शन के साथ, श्री शील वर्धन सिंह अपने नए UPSC के क्षेत्र में सफलता की ओर बढ़ते हैं, और राष्ट्र सेवा में और भी महत्वपूर्ण योगदान करने के लिए तैयार हैं।

इस खास अवसर पर, हम समर्थन और शुभकामनाएं भेजते हैं, और आगामी योजनाओं में उनकी सफलता की कामना करते हैं।

सामान्य प्रश्न (FAQs) पूर्व IPS अधिकारी श्री शील वर्धन सिंह के बारे में

  1. सवाल: श्री शील वर्धन सिंह को कैसे चयन किया गया है?

    उत्तर: श्री शील वर्धन सिंह को UPSC के सदस्य के रूप में चयन किया गया है, जो एक और महत्वपूर्ण चरण है उनके उद्यमी करियर में।

  2. सवाल: श्री शील वर्धन सिंह की शिक्षा का विवरण क्या है?

    उत्तर: श्री शील वर्धन सिंह ने अंग्रेजी ऑनर्स में स्नातक किया है और उन्होंने वेस्ट यॉर्कशायर कमांड कोर्स, यूके और नेशनल डिफेंस कॉलेज, भारत से अपना शैक्षिक परिचय प्राप्त किया है।

  3. सवाल: श्री शील वर्धन सिंह के सेवा के क्षेत्रों में क्या अनुभव है?

    उत्तर: श्री शील वर्धन सिंह ने राष्ट्र सेवा में बहुत क्षेत्रों में काम किया है, जिसमें उच्चतम स्तर की खुफिया जानकारी, विश्लेषण, और राष्ट्रीय सुरक्षा नीति निर्माण में उनका योगदान शामिल है।

  4. सवाल: श्री शील वर्धन सिंह ने सेना के साथ कैसे सेवा की है?

    उत्तर: श्री शील वर्धन सिंह ने सेना के साथ अपनी सेवा के दौरान विभिन्न सेना को बढ़ाने के लिए सुरक्षा में दूरदृष्टि और नेतृत्व प्रदान किया है।

  5. सवाल: श्री शील वर्धन सिंह की साहित्यिक रूचियों और सांस्कृतिक अन्वेषण के बारे में क्या जानकारी है?

    उत्तर: श्री शील वर्धन सिंह की साहित्यिक रूचियां और सांस्कृतिक अन्वेषण उनको एक अद्वितीय व्यक्तित्व बनाते हैं, जो लघुकथाओं और लेखन में अपना योगदान देते हैं।

  6. सवाल: श्री शील वर्धन सिंह का भविष्य कैसे हो सकता है और उनकी योजनाएं क्या हैं?

    उत्तर: श्री शील वर्धन सिंह का भविष्य उच्चतम परिचयकों में और भी मान्यता प्राप्त होने की सम्भावना है और उनकी योजनाएं राष्ट्र सेवा में और भी सकारात्मक बदलाव लाने के लिए हैं।

Please follow and like us:
error700
fb-share-icon5001
Tweet 20
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर
Advantages of overseas domestic helper.