अयोध्या का परिवर्तन: पीएम मोदी द्वारा 15,700 करोड़ का मेगा प्रोत्साहन – एक आदर्श बदलाव

अयोध्या का परिवर्तन: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अयोध्या में 15 हजार सात सौ करोड़ रुपये की विभिन्न विकास परियोजनाओं का शुभारंभ करते हुए कहा कि आज का भारत परंपरा को आधुनिकता से जोड़कर प्रगति कर रहा है। इस महत्वपूर्ण क्षण पर प्रधानमंत्री ने अयोध्या में महर्षि वाल्मीकि अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का उद्घाटन किया और विभिन्न विकास परियोजनाओं की शुरुआत की।आकाशवाणी द्वारा ट्वीट किया गया।

आने वाले दिनों में अयोध्या बनेगा विकास का हब

प्रधानमंत्री ने महर्षि वाल्मीकि अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का उद्घाटन करते हुए कहा कि इन परियोजनाओं के माध्यम से आने वाले दिनों में अयोध्या, उत्तर प्रदेश के समग्र विकास का मार्गदर्शन करेगा। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार अयोध्या के विकास पर ध्यान केंद्रित कर रही है, क्योंकि आने वाले दिनों में लाखों लोग यहां आएंगे।

ये भी पढ़ें: वित्त मंत्रालय द्वारा घोषित सुकन्या समृद्धि योजना की नयी ब्याज दरें

विकास और संस्कृति का संगम

प्रधानमंत्री ने बताया कि धार्मिक स्थलों को विकसित करने के अपनी सरकार के कार्यों से विकास और संस्कृति के संगम से 21वीं शताब्दी में देश आगे बढ़ेगा। इस मौके पर उन्होंने आयोध्या धाम रेलवे स्टेशन का भी उद्घाटन किया और नए अमृत भारत एक्सप्रेस रेलगाड़ियों को रवाना किया।

नमो भारत, अमृत भारत और वंदे भारत रेलगाड़ियों का उद्घाटन

“नमो भारत, अमृत भारत और वंदे भारत रेलगाड़ियों की त्रिशक्ति देश में रेलवे के संपूर्ण परिदृश्य को बदल देगी,” उन्होंने कहा। इससे पहले प्रधानमंत्री ने सुबह हवाई अड्डे से अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन तक रोड शो किया, जिसमें हजारों लोग उनका स्वागत करते हुए पूरे रास्ते उन पर फूल बरसाए।

ये भी पढ़ें: सरकारी साझेदारी और समृद्धि: मुख्य सचिवों का तीन दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन

विशेष उपस्थिति

इस अवसर पर केंद्रीय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव, उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी उपस्थित थे।

रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के दिन दीपावली मनाएं

प्रधानमंत्री ने इस मौके पर लोगों से आग्रह किया है कि वे अयोध्या के नवनिर्मित मंदिर में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के दिन, 22 जनवरी को, देश में दीपावली मनाएं और राम ज्योति प्रज्ज्वलित करें। उन्होंने कहा कि इस अवसर पर पूरा देश जगमगाना चाहिए।

आयोध्या शहर में धरोहर और विकास की एक नई कहानी

इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने पुनर्निर्मित अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन का उद्घाटन किया और नए अमृत भारत एक्सप्रेस रेलगाड़ियों को रवाना किया। महत्वपूर्ण सार्थक और सुरक्षित यात्रा के लिए ये रेलगाड़ियां महत्वपूर्ण योजना हैं।

ये भी पढ़ें: टेस्ला का बड़ा एलान: गुजरात में विश्वस्त कार मैन्युफैक्चरिंग प्लांट का निर्माण, जनवरी 2024 में होगा अद्वितीय ऐलान

अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का उद्घाटन

पहले प्रधानमंत्री ने अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का उद्घाटन किया, जिससे यह स्पष्ट हुआ कि आयोध्या शहर में विकास की नई ऊँचाइयों की ओर कदम बढ़ रहा है। इसके पूर्व में प्रधानमंत्री ने लता मंगेशकर चौक को भी दर्शनीय स्थल के रूप में चुना। यहां वीणा की एक विशाल प्रतिमा है और राम की पैड़ी के बिल्कुल निकट यह मुख्य चौराहा है।

एक नई उर्जा के साथ अयोध्या की ओर

आज का इतिहास बताता है कि कैसे अयोध्या, जो हमेशा से हिन्दू धरोहर का केंद्र रहा है, अब एक नई ऊर्जा के साथ विकसित हो रहा है। केंद्रीय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव, उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की उपस्थिति ने इस घड़ी को और भी महत्वपूर्ण बना दिया है।

यह शुभारंभ न केवल अयोध्या के विकास की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है, बल्कि इससे आगे बढ़कर पूरे देश को भी एक नए सोच की दिशा में प्रेरित करने का कारगर माध्यम बन सकता है। इस नए योजना और विकास की ऊँचाइयों के साथ, भारत ने एक नए अध्याय की शुरुआत की है, जो भविष्य में और भी सुरक्षित, सुखद साबित होगा।

ये भी पढ़ें: उल्फा समझौता: शांति की कहानी, 700 कैडरों का समर्पण और उज्जवल भविष्य की आशा

FAQs:

Q1: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने क्या कहा और कहां किया?

उत्तर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आयोध्या में 15 हजार सात सौ करोड़ रुपये की विभिन्न विकास परियोजनाओं का शुभारंभ किया। उन्होंने महर्षि वाल्मीकि अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का उद्घाटन किया और विभिन्न विकास परियोजनाओं की शुरुआत की।

Q2: कौन-कौन से महत्वपूर्ण विकास परियोजनाएं शुरू की गई हैं?

उत्तर: प्रधानमंत्री ने महर्षि वाल्मीकि अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे, आयोध्या धाम रेलवे स्टेशन, और नए अमृत भारत एक्सप्रेस रेलगाड़ियों का उद्घाटन किया। इससे आयोध्या और उत्तर प्रदेश के समग्र विकास का मार्गदर्शन होगा।

Q3: प्रधानमंत्री ने किस बारे में चर्चा की और उसका क्या महत्व है?

उत्तर: प्रधानमंत्री ने धर्मिक स्थलों के विकास पर चर्चा की और बताया कि इससे विकास और संस्कृति का संगम होगा और देश 21वीं शताब्दी में आगे बढ़ेगा।

Q4: कौन-कौन से नेता इस घड़ी में उपस्थित थे?

उत्तर: इस अवसर पर केंद्रीय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव, उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी उपस्थित थे।

Q5: प्रधानमंत्री ने किस तारीख को लोगों से क्या आग्रह किया?

उत्तर: प्रधानमंत्री ने लोगों से आग्रह किया है कि वे नवनिर्मित मंदिर में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के दिन, 22 जनवरी को, देश में दीपावली मनाएं और राम ज्योति प्रज्ज्वलित करें।

Please follow and like us:
error700
fb-share-icon5001
Tweet 20
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर
Advantages of overseas domestic helper.