राजस्थान में मुख्यमंत्री भजन लाल शर्मा ने मंत्रिपरिषद का विस्तार किया, 22 नए मंत्री शामिल

राजस्थान में मुख्यमंत्री भजन लाल शर्मा ने मंत्रिपरिषद का विस्तार किया, जिससे 22 नए मंत्री शामिल किये गये हैं। इस महत्वपूर्ण घटना के दौरान राज्यपाल कलराज मिश्र ने एक शानदार समारोह में 12 कैबिनेट मंत्रियों, पांच स्वतंत्र प्रभार वाले राज्य मंत्रियों, और अन्य पांच राज्य मंत्रियों को शपथ दिलाई।आकाशवाणी द्वारा ट्वीट किया गया।

मंत्रिपरिषद में विस्तार का खास मौका

इस मंत्रिपरिषद के विस्तार के साथ, मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्रियों के साथ मिलकर मंत्रिपरिषद की कुल संख्या 25 हो गई है। इससे राजस्थान की सरकार ने नए उत्थान के क्षेत्र में नए कदम उठाने का एक और कदम बढ़ाया है।

ये भी पढ़ें: अयोध्या का परिवर्तन: पीएम मोदी द्वारा 15,700 करोड़ का मेगा प्रोत्साहन – एक आदर्श बदलाव

मंत्रिपरिषद में नए रूप में शामिल हुए मंत्री

इस नए विस्तार में,

  • डॉक्टर. किरोड़ी लाल मीणा,
  • गजेन्द्र सिंह खींवसर,
  • राज्यवर्धन सिंह राठौड़,
  • बाबूलाल खराड़ी,
  • मदन दिलावर,
  • जोगाराम पटेल,
  • सुरेश सिंह रावत,
  • अविनाश गहलोत,
  • जोराराम कुमावत,
  • हेमंत मीना,
  • कन्हैया लाल चौधरी, और
  • सुमित गोदारा ने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली।

स्वतंत्र प्रभार वाले राज्य मंत्री

इस मंत्रिपरिषद में स्वतंत्र प्रभार वाले राज्य मंत्रियों की भी शपथ ली गई। इस श्रेणी में

  • संजय शर्मा,
  • गौतम कुमार,
  • झब्बर सिंह खर्रा,
  • सुरेन्द्र पाल सिंह और
  • हीरालाल नागर शामिल हैं। ये मंत्री अपने क्षेत्र में नए और सकारात्मक परिवर्तन की दिशा में कदम बढ़ाएंगे।

ये भी पढ़ें: टेस्ला का बड़ा एलान: गुजरात में विश्वस्त कार मैन्युफैक्चरिंग प्लांट का निर्माण, जनवरी 2024 में होगा अद्वितीय ऐलान

राज्य मंत्री

राज्यमंत्रियों की नई जोड़ी में

  • ओटाराम देवासी,
  • डॉक्टर मंजू बाघमार,
  • विजय सिंह चौधरी,
  • कृष्ण कुमार विष्णोई, और
  • जवाहर सिंह बेधाम शामिल हैं। ये नेता अपने अपने क्षेत्रों में विशेषज्ञता और अनुभव के साथ मंत्रिपरिषद के बढ़ते हुए दायरे में नई ऊँचाइयों की ओर कदम बढ़ाएंगे।

विभिन्न विभागों में नए चेहरे

इस विस्तार के साथ, मंत्रिपरिषद में शामिल हुए नए मंत्रियों में विभिन्न विभागों में नए चेहरे शामिल हो रहे हैं। इनमें से कुछ नाम हैं डॉक्टर मंजू बाघमार, जिन्होंने स्वास्थ्य और कल्याण मंत्रालय का सुचारू रूप से कार्यभार संभाला है।

अनुभवी और युवा दोनों को मौका

मंत्रिपरिषद के विस्तार से साफ है कि इसमें अनुभवी नेतृत्व के साथ-साथ युवा चेहरों को भी मौका मिला है। यह सामाजिक और राजनीतिक संरचना में एक संतुलित पहल है जो समर्थन और नए विचारों के साथ सकारात्मक परिवर्तन की दिशा में कदम बढ़ाएगी।

ये भी पढ़ें: दीपिका पादुकोण को हुंडई की नई ब्रांड एंबेसडर बनाने पर क्या कहते हैं लोग?

चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार

नए मंत्रिमंडल ने चुनौतियों का सामना करने के लिए अपनी प्रतिबद्धता जताई है। वे सामाजिक, आर्थिक, और राजनीतिक स्तर पर सभी विषयों में सुनिश्चित करेंगे कि राजस्थान को एक नए युग की शुरुआत मिले।

मुख्यमंत्री का संबोधन

मंत्रिपरिषद के इस विस्तार के बाद मुख्यमंत्री भजन लाल शर्मा ने एक संबोधन में कहा, “यह नया मंत्रिमंडल हमारे राज्य के विकास की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। हम सभी मिलकर काम करेंगे और राजस्थान को एक नए ऊँचाईयों तक पहुंचाएंगे।”

समाज की आवश्यकताओं का समर्थन

नए मंत्रिमंडल ने समाज की आवश्यकताओं के साथ समर्थन की बात की है और इसे अपनी प्राथमिकता बनाने का आदान-प्रदान किया है। ये नेताएँ विभिन्न समृद्धि क्षेत्रों में नई योजनाओं की शुरुआत करेंगे जो सामाजिक, आर्थिक, और सांस्कृतिक विकास को सुनिश्चित करेगी।

इस विस्तार के साथ, राजस्थान ने एक नए युग की शुरुआत की है जिसमें नए मंत्रीमंडल के साथ राज्य को एक मजबूत नेतृत्व मिलेगा। इन नेताओं की प्रतिबद्धता और क्षमता से आगे बढ़कर, राजस्थान निश्चित रूप से नए ऊँचाईयों को छूएगा।

FAQs:

प्रश्न: मंत्रिपरिषद का विस्तार क्या है?
उत्तर: राजस्थान में मुख्यमंत्री भजन लाल शर्मा ने मंत्रिपरिषद का विस्तार किया है, जिसमें 22 नए मंत्री शामिल हो गए हैं।

प्रश्न: कैसे हुआ मंत्रिपरिषद का विस्तार?
उत्तर: राज्यपाल कलराज मिश्र ने शानदार समारोह में 12 कैबिनेट मंत्रियों, 5 स्वतंत्र प्रभार वाले राज्य मंत्रियों, और अन्य 5 राज्य मंत्रियों को शपथ दिलाई।

प्रश्न: मंत्रिपरिषद में कितने सदस्य हैं अब?
उत्तर: इस विस्तार के साथ, मंत्रिपरिषद की कुल संख्या 25 हो गई है, जिसमें मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्रियों सहित 22 मंत्री शामिल हैं।

प्रश्न: नए मंत्री कौन-कौन हैं?
उत्तर: डॉक्टर. किरोड़ी लाल मीणा, गजेन्द्र सिंह खींवसर, राज्यवर्धन सिंह राठौड़, बाबूलाल खराड़ी, मदन दिलावर, जोगाराम पटेल, सुरेश सिंह रावत, अविनाश गहलोत, जोराराम कुमावत, हेमंत मीना, कन्हैया लाल चौधरी, और सुमित गोदारा ने मंत्रिपरिषद में नए रूप में शामिल होकर कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली हैं।

प्रश्न: स्वतंत्र प्रभार वाले राज्य मंत्री कौन-कौन हैं?
उत्तर: संजय शर्मा, गौतम कुमार, झब्बर सिंह खर्रा, सुरेन्द्र पाल सिंह और हीरालाल नागर मंत्रिपरिषद में स्वतंत्र प्रभार वाले राज्य मंत्री हैं।

प्रश्न: कौन-कौन से विभागों में हैं नए मंत्री?
उत्तर: इस विस्तार के साथ, नए मंत्री विभिन्न विभागों में शामिल हो रहे हैं, जैसे कि डॉक्टर मंजू बाघमार जो स्वास्थ्य और कल्याण मंत्रालय का सुचारू रूप से कार्यभार संभाल रहे हैं।

प्रश्न: मुख्यमंत्री ने इस मौके पर क्या कहा?
उत्तर: मुख्यमंत्री भजन लाल शर्मा ने मंत्रिपरिषद के इस विस्तार के बाद एक संबोधन में कहा, “यह नया मंत्रिमंडल हमारे राज्य के विकास की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। हम सभी मिलकर काम करेंगे और राजस्थान को एक नए ऊँचाईयों तक पहुंचाएंगे।”

प्रश्न: कैसे इस मंत्रिपरिषद के विस्तार से समाज को फायदा होगा?
उत्तर: नए मंत्रिमंडल ने समाज की आवश्यकताओं के साथ समर्थन की बात की है और इसे अपनी प्राथमिकता बनाने का आदान-प्रदान किया है, जिससे सामाजिक, आर्थिक, और सांस्कृतिक विकास को सुनिश्चित किया जाएगा।

 

Please follow and like us:
error700
fb-share-icon5001
Tweet 20
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर
Foreign domestic helper.