The New Sites

Usha Kiran Khan: हिंदी और मैथिली की प्रसिद्ध लेखिका पद्मश्री प्रोफेसर उषा किरण खान का निधन

Usha Kiran Khan: हिंदी और मैथिली की प्रसिद्ध लेखिका पद्मश्री प्रोफेसर उषा किरण खान

  • 11 फरवरी को हिंदी और मैथिली के प्रसिद्ध लेखकों में से एक, पद्मश्री प्रोफेसर उषा किरण खान का निधन हो गया। वे लंबे समय से बीमार थीं।
  • उनका निधन पटना के एक निजी अस्पताल में हुआ, जहां उन्हें सांस लेने में परेशानी हुई।
  • उषा किरण खान दरभंगा के लहेरियासराय में जन्मी थी।
  • हिंदी और मैथिली दोनों भाषाओं में उन्होंने दर्जनों उपन्यास और कहानी लिखीं।
  • उन्होंने बाल साहित्य और लेखन में भी काफी नाम कमाया, और उनकी पुस्तक ‘दूब धान’ बहुत चर्चित हुई।
  • 2015 में उषा किरण खान को पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।
  • वे बिहार राष्ट्रभाषा परिषद से हिंदी सम्मान, राजभाषा विभाग से महादेवी वर्मा सम्मान, दिनकर राष्ट्रीय सम्मान और साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित हुए हैं।
  • उषा किरण खान के पति और बिहार के पूर्व डीजीपी रामचंद्र खान का अप्रैल 2022 में निधन हो गया।

ये भी पढ़ें: 57th Statesman Vintage and Classic Car Rally: दिल्ली में 57वीं स्टेट्समैन विंटेज और क्लासिक कार रैली का आयोजन हुआ

MCQs:

1. लहेरियासराय, दरभंगा के प्रसिद्ध हिंदी और मैथिली लेखक कौन थे, जिनका 11 फरवरी को निधन हो गया?

  1. महादेवी वर्मा
  2. उषा किरण खान
  3. रामचन्द्र खान
  4. दिनाकर

उत्तर: b) उषा किरण खान

स्पष्टीकरण: उषा किरण खान लहेरियासराय, दरभंगा की रहने वाली एक प्रमुख हिंदी और मैथिली लेखिका थीं, जिन्हें साहित्य में उनके योगदान के लिए जाना जाता है।

2. उषा किरण खान को किस वर्ष पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया था?

  1. 2010
  2. 2015
  3. 2018
  4. 2020

उत्तर: B) 2015

स्पष्टीकरण: उषा किरण खान को साहित्य में उनके महत्वपूर्ण योगदान के लिए वर्ष 2015 में प्रतिष्ठित पद्म श्री पुरस्कार मिला।

3. उषा किरण खान दरभंगा जिले में कहां की रहने वाली थीं?

  1. लहेरियासराय
  2. पटना
  3. दरभंगा
  4. डीजीपी

उत्तर:a) लहेरियासराय

स्पष्टीकरण: उषा किरण खान दरभंगा जिले के लहेरियासराय की रहने वाली थीं.

5. उपन्यास और कहानियों के अलावा उषा किरण खान ने किस साहित्यिक विधा में उल्लेखनीय प्रभाव डाला?

  1. कविता
  2.  नाटक
  3. विज्ञान कथा
  4. ऐतिहासिक कथा

उत्तर: A) कविता

स्पष्टीकरण: उषा किरण खान ने उपन्यासों और कहानियों में अपने काम के अलावा कविता के क्षेत्र में भी उल्लेखनीय छाप छोड़ी।

6. पद्मश्री पुरस्कार के अलावा, उषा किरण खान को किससे सम्मान मिला?

  1. साहित्य अकादमी
  2. राजभाषा विभाग
  3. बिहार राष्ट्रभाषा परिषद
  4. दिनकर राष्ट्रीय सम्मान

उत्तर: A) साहित्य अकादमी

स्पष्टीकरण: उषा किरण खान को साहित्य में उनके योगदान के लिए साहित्य अकादमी द्वारा भी मान्यता दी गई थी।

7. उषा किरण खान की किस कृति को साहित्य जगत में उल्लेखनीय लोकप्रियता मिली?

  1. दूब धन
  2. महादेवी वर्मा
  3. दिनकर राष्ट्रीय सम्मान
  4. पद्मश्री

उत्तर: A) दूब धन

स्पष्टीकरण: उषा किरण खान की कृति “दूब धन” काफी चर्चा में रही और लोकप्रियता हासिल करती रही।

8. उषा किरण खान ने अपने उपन्यास और कहानियाँ किन भाषाओं में लिखीं?

  1. केवल हिंदी
  2. केवल मैथिली
  3. हिंदी और मैथिली
  4. अंग्रेजी और मैथिली

उत्तर: C) हिंदी और मैथिली

स्पष्टीकरण: उषा किरण खान ने हिंदी और मैथिली दोनों भाषाओं में अपनी साहित्यिक प्रतिभा का प्रदर्शन किया।

9. उषा किरण खान को पद्मश्री के अलावा बिहार से किस सम्मान के रूप में पहचान मिली?

  1. बिहार राष्ट्रभाषा परिषद पुरस्कार
  2. राजभाषा विभाग सम्मान
  3. दिनकर राष्ट्रीय सम्मान
  4. महादेवी वर्मा पुरस्कार

उत्तर: a) बिहार राष्ट्रभाषा परिषद पुरस्कार

स्पष्टीकरण: उषा किरण खान को साहित्य में उनके योगदान के लिए बिहार राष्ट्रभाषा परिषद द्वारा सम्मानित किया गया।

10. उषा किरण खान को किस भाषा के लिए बिहार राजभाषा परिषद से मान्यता प्राप्त हुई?

  1. बंगाली
  2. हिंदी
  3. मैथिली
  4. भोजपुरी

उत्तर: B हिंदी

11. उषा किरण खान को महादेवी वर्मा पुरस्कार किस विभाग ने प्रदान किया?

  1. शिक्षा
  2. साहित्य
  3. राजभाषा
  4. समाज कल्याण

उत्तर: C राजभाषा

12. अप्रैल 2022 में, किसका निधन हो गया, जो उषा किरण खान के लिए एक बड़ी क्षति है?

  1. उषा किरण खान की सहोदर
  2. उषा किरण खान के बेटे
  3. उषा किरण खान के पति
  4. उषा किरण खान की करीबी दोस्त

 उत्तर: C. उषा किरण खान के पति, रामचन्द्र खान

(Source: AIR News, PIB News, DD News, BBC News, Bhaskar News)

ये भी पढ़ें: World Government Summit 2024: पीएम मोदी विश्व सरकार शिखर सम्मेलन 2024 में शामिल होंगे

Please follow and like us:
error700
fb-share-icon5001
Tweet 20
fb-share-icon20
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर
Domestic helper visa extension hk$900.