White Paper: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में श्वेत पत्र पेश किया

White Paper: लोकसभा में प्रस्तुत किया गया श्वेत पत्र

  • 8 फरवरी को, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में श्वेत पत्र पेश किया।
  • 59 पेज के श्वेत पत्र में 2014 से पहले और 2014 के बाद की भारतीय अर्थव्यवस्था का विवरण है।
  • श्वेत पत्र में बताया गया है कि UPA सरकार के दस सालों में भारत को इकोनॉमी मिस मैनेजमेंट का नुकसान हुआ है।
  • श्वेत पत्र का उद्देश्य नरेंद्र मोदी सरकार और मनमोहन सिंह सरकार के आर्थिक हालात की तुलना करना है।
  • इससे पता चलता है कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में सरकार ने देश को आर्थिक संकट से बाहर निकाला है।
  • श्वेत पत्र, या वाइट पेपर, एक रिपोर्ट, दिशानिर्देश, शोध पत्र या औपचारिक सरकारी दस्तावेज हो सकता है।
  • यह किसी विषय या समस्या के समाधान और नीति प्रस्तावों के विश्लेषण पर आधारित है।
  • इसे “श्वेत पत्र” कहा जाता है क्योंकि ये सफेद कवर में बंधा है।
  • ब्रिटेन दुनिया का पहला श्वेत पत्र था; इसके बाद स्वतंत्र और गुलाम भारत में भी श्वेत पत्र आए।
  • ब्रिटेन में दुनिया का पहला श्वेत पत्र लाया गया था; इसके बाद आजाद भारत और गुलाम देशों में भी श्वेत पत्र आए।
  • जून 1922 में, ब्रिटिश प्रधानमंत्री विंस्टन चर्चिल ने फिलिस्तीन मामलों पर विश्व का पहला श्वेत पत्र जारी किया था।
  • इसमें ब्रिटिश सरकार ने फिलिस्तीन पर अपनी नीति को स्पष्ट किया।
  • 90 के दशक से, व्यापारिक कंपनियों ने भी अपने मार्केटिंग और व्यापार के लिए श्वेत पत्र का उपयोग करना शुरू कर दिया है।

ये भी पढ़ें: Daily Current Affairs Quiz in Hindi 8 February 2024; डेली करंट अफेयर्स क्विज़ेज इन हिंदी

MCQs:

1. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा 8 फरवरी को लोकसभा में प्रस्तुत श्वेत पत्र का प्राथमिक उद्देश्य क्या है?

  1. ऐतिहासिक घटनाओं पर चर्चा
  2. मनमोहन सिंह और नरेंद्र मोदी की सरकारों के दौरान आर्थिक स्थितियों की तुलना
  3. वैश्विक आर्थिक रुझानों का विश्लेषण
  4. भारत के सांस्कृतिक पहलुओं की खोज

उत्तर: B. मनमोहन सिंह और नरेंद्र मोदी की सरकारों के दौरान आर्थिक स्थितियों की तुलना करना

2. श्वेत पत्र के संदर्भ में, UPA का क्या मतलब है?

  1. संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन
  2. संयुक्त संसद सभा
  3. वंचित जनसंख्या अधिनियम
  4. लोक प्रशासकों का संघ

उत्तर: A. संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन

3. जैसा कि दस्तावेज़ में बताया गया है, श्वेत पत्र का क्या महत्व है?

  1. एक राजनीतिक घोषणापत्र
  2. सरकारी अधिकारियों के लिए एक गाइड
  3. सरकारी नीतियों और समाधानों पर एक औपचारिक दस्तावेज़
  4. एक ऐतिहासिक आख्यान

उत्तर: C. सरकारी नीतियों और समाधानों पर एक औपचारिक दस्तावेज़

4. इसे “श्वेत पत्र” क्यों कहा जाता है?

  1. यह सदैव सफेद रंग के कागज पर मुद्रित होता है
  2. यह राजनीतिक मामलों में तटस्थता का प्रतीक है
  3. कवर सफेद और बंधा हुआ है
  4. ब्रिटिश सरकार द्वारा उपयोग किए जाने वाले कागज के रंग के आधार पर इसका नाम रखा गया

उत्तर: C. कवर सफेद और बंधा हुआ है

5. विश्व में पहला श्वेत पत्र कब और किसके द्वारा जारी किया गया था?

  1.  जून 1922, विंस्टन चर्चिल
  2. जुलाई 1933, फ़्रैंकलिन डी. रूज़वेल्ट
  3. सितंबर 1945, क्लेमेंट एटली
  4. मई 1950, हैरी एस. ट्रूमैन

उत्तर: A. जून 1922, विंस्टन चर्चिल

6. श्वेत पत्र के अनुसार भारत की आर्थिक स्थिति के संबंध में क्या जानकारी प्रदान की गई है?

  1. केवल 2014 के बाद का डेटा
  2. केवल 2014 से पहले का डेटा
  3. 2014 से पहले और 2014 के बाद का डेटा
  4. केवल पिछले दशक का डेटा

उत्तर: C. 2014 से पहले और 2014 के बाद दोनों का डेटा

7. श्वेत पत्र UPA सरकार से संबंधित अर्थव्यवस्था के किस पहलू पर केंद्रित है?

  1. तकनीकी प्रगति
  2. पर्यावरण नीतियां
  3. आर्थिक कुप्रबंधन
  4. सामाजिक कल्याण कार्यक्रम

उत्तर: C. आर्थिक कुप्रबंधन

8. श्वेत पत्र में मनमोहन सिंह की सरकार की तुलना नरेंद्र मोदी की सरकार से करने का प्राथमिक उद्देश्य क्या है?

  1. तकनीकी प्रगति को उजागर करना
  2. विदेश नीति निर्णयों का विश्लेषण करना
  3. आर्थिक स्थितियों की तुलना करना
  4. सांस्कृतिक विकास का मूल्यांकन करना

उत्तर: C. आर्थिक स्थितियों की तुलना करना

9. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा प्रस्तुत श्वेत पत्र कितने पन्नों का है?

  1. 29
  2. 59
  3. 79
  4. 99

उत्तर: B. 59

10. विश्व का पहला श्वेत पत्र किसने और किस वर्ष जारी किया?

  1. विंस्टन चर्चिल, जून 1922
  2. क्लेमेंट एटली, सितंबर 1945
  3. फ्रैंकलिन डी. रूजवेल्ट, जुलाई 1933
  4. हैरी एस. ट्रूमैन, मई 1950

उत्तर: A. विंस्टन चर्चिल, जून 1922

11. विंस्टन चर्चिल द्वारा जारी प्रथम श्वेत पत्र का विषय क्या था?

  1. भारतीय स्वतंत्रता
  2. प्रथम विश्व युद्ध
  3. फ़िलिस्तीन मामले
  4. ब्रिटिश आर्थिक नीतियां

उत्तर: C. फिलिस्तीन मामले

12. किस दशक में वाणिज्यिक कंपनियों ने व्यापार और विपणन उद्देश्यों के लिए श्वेत पत्र का उपयोग करना शुरू किया?

  1. 1950 का दशक
  2. 1960 के दशक
  3. 1970 के दशक
  4. 1980 के दशक

उत्तर: C. 1970 के दशक में

13. ब्रिटेन के अलावा विश्व का पहला श्वेत पत्र कहाँ जारी किया गया था?

  1. भारत
  2. संयुक्त राज्य अमेरिका
  3. ऑस्ट्रेलिया
  4. कनाडा

उत्तर: B. संयुक्त राज्य अमेरिका

14. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कब लोकसभा में श्वेत पत्र पेश किया?

  1. 7 फरवरी
  2. 8 फरवरी
  3. 9 फरवरी
  4. 10 फरवरी

उत्तर: B. 8 फरवरी

15. श्वेत पत्र का मुख्य उद्देश्य क्या है, जैसा कि श्वेत पत्र में बताया गया है?

  1. ऐतिहासिक घटनाओं की चर्चा
  2. आर्थिक दशा की तुलना
  3. राजनीतिक प्रमाणपत्र
  4. साहित्यिक परिवर्तनों का विश्लेषण

उत्तर: B. आर्थिक दशा की तुलना

16. श्वेत पत्र के अनुसार, UPA सरकार के दस सालों में भारत को कौन-कौन से आर्थिक मैनेजमेंट के नुकसानों का सामना करना पड़ा?

  1. उच्चतम शिक्षा
  2. दूरसंचार
  3. इकोनॉमी
  4. स्वास्थ्य

उत्तर: C. इकोनॉमी

17. श्वेत पत्र के अनुसार, इसमें कौन-कौन से मुद्दे होते हैं?

  1. तकनीकी प्रगति
  2. आर्थिक हालात
  3. पर्यावरण नीतियाँ
  4. सांस्कृतिक विकास

उत्तर: B. आर्थिक हालात

18. श्वेत पत्र में प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में देश को आर्थिक बदहाली से बाहर निकालने के लिए सरकार ने किस तरह का कार्य किया है?

  1. सकारात्मक भूमिका
  2. पॉजिटिव रिफॉर्म्स
  3. सांविदानिक संशोधन
  4. सार्वजनिक आपत्ति

उत्तर: B. पॉजिटिव रिफॉर्म्स

19. श्वेत पत्र के अनुसार, व्हाइट पेपर का अर्थ क्या है?

  1. सफेद रंग का कागज
  2. राजनीतिक मामलों में तटस्थता का प्रतीक
  3. सफेद कवर और बाँध के बाद
  4. ब्रिटिश सरकार के कागजों का रंग

उत्तर: C. सफेद कवर और बाँध के बाद

20. व्हाइट पेपर के कवर का रंग क्या है, जिसके कारण इसे इस नाम से जाना जाता है?

  1. काला
  2. नीला
  3. लाल
  4. सफेद

उत्तर: D. सफेद

(Source: AIR News, PIB News, DD News, BBC News, Bhaskar News)

ये भी पढ़ें: Bharateey Mool ke Bairistar Varun Ghosh: भारतीय मूल के बैरिस्टर वरुण घोष, गीता पर हाथ रखकर शपथ लेने वाले पहले ऑस्ट्रेलियाई सांसद बने

Please follow and like us:
error700
fb-share-icon5001
Tweet 20
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर