भारतीय नौसेना ने ‘इंफाल’ का अनावरण किया: उन्नत सुरक्षा के लिए नवीनतम स्टील्थ गाइडेड मिसाइल युद्धपोत

भारतीय नौसेना के नवीनतम स्टील्थ गाइडेड मिसाइल युद्धपोत ‘इंफाल’ का शानदार स्वागत!

मुंबई, 26 दिसम्बर 2023: आज भारतीय नौसेना ने अपने विस्तृत बेड़े में एक नई रौशनी बिखेरी है, जब उसने नवीनतम स्टील्थ गाइडेड मिसाइल युद्धपोतइंफाल’ को शामिल किया। इस शानदार उपकरण की शुरुआत के मौके पर मुंबई में आयोजित समारोह में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मुख्य अतिथि के रूप में भाग लिया।एयर (AIR) के ट्वीट के अनुसार

राजनाथ सिंह: ‘इंफाल’ को सौंपा गया भारतीय नौसेना को

समारोह में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, “इंफाल नामक यह युद्धपोत भारतीय नौसेना की तकनीकी शक्ति को मजबूती प्रदान करेगा और हमारी सुरक्षा को और भी सुदृढ़ बनाए रखेगा। इसे स्वदेशी तकनीक से बनाया गया है और यह एक महत्वपूर्ण कदम है हमारी रक्षा स्वायत्तता की दिशा में।”

बंदरगाह और समुद्र में व्यापक परीक्षण के बाद शानदार उत्कृष्टता

इंफाल युद्धपोत को बंदरगाह और समुद्र में व्यापक परीक्षण के बाद इसे आज शानदारता से शामिल किया गया। इसके जीवन्त और उच्चतम स्तर के परीक्षणों ने दिखाया कि यह युद्धपोत सभी परिस्थितियों में उत्कृष्टता का हाकदार है।

इंफाल: भारतीय स्वतंत्रता संग्राम की श्रद्धांजलि

इंफाल विध्वंसक ने इतिहास रचा है क्योंकि यह पहला युद्धपोत है जिसे पूर्वोत्तर के किसी शहर का नाम दिया गया है। इससे साफ है कि इसका नाम भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में शहीद हुए वीरों के बलिदान और योगदान को समर्पित है।

ये भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में मंत्रिमंडल का विस्तार: राज्यपाल ने भाजपा के 28 नेताओं को मंत्री पद की शपथ दिलाई

मणिपुर के बलिदान का आदान-प्रदान

इंफाल का नाम विशेषकर मणिपुर राज्य के ऐतिहासिक संग्राम को स्मृतिचिन्हित करता है, जहां वीर भूमिपुत्रों ने अपनी शक्ति और साहस से आज़ादी के लिए संघर्ष किया। इससे यह युद्धपोत मणिपुर के बलिदान का आदान-प्रदान करता है और उस समय की महाकाव्य कथा को याद दिलाता है।

इंफाल: तकनीकी विशेषज्ञता का प्रतीक

इंफाल ने तकनीकी दृष्टि से भी अपने उद्दीपन को साबित किया है। इसमें स्टील्थ गाइडेड मिसाइल्स शामिल हैं जो संक्षेप में बोलें तो यह युद्धपोत संवेदनशीलता और उच्चतम सुरक्षा स्तर की गारंटी प्रदान करता है।

इंफाल का रणनीतिक उपयोग

इंफाल का रणनीतिक उपयोग विभिन्न स्थानों में किया जा सकता है, जिससे यह एक सुरक्षित और अद्वितीय संसाधन बनता है। इसमें समुद्री और तटीय क्षेत्रों में बहुपयोगी बनाने के लिए उच्च प्रदर्शन और निर्माणशीलता का संयोजन है।

सुरक्षा में नए मील का पत्थर

इंफाल के समर्थन में राजनाथ सिंह ने कहा, “यह एक नया मील का पत्थर है हमारी सुरक्षा में। हमारी सरकार तकनीकी नवाचार में निरंतर प्रगति कर रही है और यह युद्धपोत उसी प्रगति का प्रतीक है।”

ये भी पढ़ें: मोदी ने खोला भारतीय सांस्कृतिक खजाने का सीरियस राज, एक महान संकलित कृतियों की पहली श्रृंखला का खुलासा

समाप्त होते समारोह में संतुलन

समारोह के समापन के समय राजनाथ सिंह ने उच्च स्तरीय अधिकारियों, नौसेना कर्मियों, और उद्योग के प्रतिष्ठानुसारी व्यक्तियों को सम्मानित किया और उन्हें यह सुनिश्चित करने के लिए कहा कि यह युद्धपोत देश की सुरक्षा में नए उच्चतम स्तरों को हासिल करेगा।

समाप्त होते समारोह की रौंगत:

इस समारोह में संतुलन और उत्साह की रौंगत थी, जिसने यह दिखाया कि भारतीय नौसेना अपनी तकनीकी सुदृढ़ता और साहस से बहुत अग्रणी है। इस युद्धपोत की शानदारता और उन्नत तकनीकी विशेषज्ञता ने देश को एक और शक्तिशाली सुरक्षा साधन प्रदान किया है।

नौसेना को मिला नया शक्तिशाली साथी

इंफाल युद्धपोत की शानदारता और उसकी विशेषज्ञता ने भारतीय नौसेना को एक नए और शक्तिशाली साथी के रूप में मिला है। इससे देश की समर्थन क्षमता में एक बड़ी बढ़ोतरी होगी और हम सभी राष्ट्रवादी इस पर गर्व कर सकते हैं।

इस सफलता के संदर्भ में यह कहा जा सकता है कि इंफाल युद्धपोत ने भारतीय सुरक्षा शक्ति को नए उच्चतम स्तरों तक पहुंचाया है, और यह एक महत्वपूर्ण कदम है

ये भी पढ़ें: वीर बाल दिवस: प्रधानमंत्री ने कहा, देश की आजादी के अमृत काल में नये अध्याय का आरंभ

FAQs:

Q1: ‘इंफाल’ नामक युद्धपोत का उद्घाटन किसने किया?

उत्तर: इंफाल नामक युद्धपोत का उद्घाटन भारतीय नौसेना ने किया और इस महत्वपूर्ण घटना के मौके पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मुंबई में आयोजित समारोह में भाग लिया।

Q2: ‘इंफाल’ का युद्धपोत किसे सौंपा गया है?

उत्तर: समारोह में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि ‘इंफाल’ युद्धपोत भारतीय नौसेना को सौंपा गया है और यह तकनीकी शक्ति को मजबूती प्रदान करेगा।

Q3: ‘इंफाल’ का रणनीतिक उपयोग कहाँ हो सकता है?

उत्तर: ‘इंफाल’ का रणनीतिक उपयोग विभिन्न स्थानों में किया जा सकता है और इसे समुद्री और तटीय क्षेत्रों में बहुपयोगी बनाने के लिए उच्च प्रदर्शन और निर्माणशीलता का संयोजन है।

Q4: ‘इंफाल’ का राजनीतिक महत्व क्या है?

उत्तर: इंफाल नामक युद्धपोत ने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम की श्रद्धांजलि रखते हुए एक महत्वपूर्ण राजनीतिक महत्व को साकार किया है, क्योंकि इसका नाम मणिपुर के ऐतिहासिक संघर्ष को स्मृतिचिन्हित करता है।

Q5: समारोह में कौन-कौन शामिल थे?

उत्तर: समारोह में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, नौसेना कर्मियों, उच्च स्तरीय अधिकारी, और उद्योग के प्रतिष्ठानुसारी व्यक्तियाँ शामिल थीं।

Q6: ‘इंफाल’ की तकनीकी विशेषताएं क्या हैं?

उत्तर: ‘इंफाल’ ने तकनीकी दृष्टि से अपने उद्दीपन को साबित किया है और इसमें स्टील्थ गाइडेड मिसाइल्स हैं जो सुरक्षा और उच्चतम स्तर की गारंटी प्रदान करती हैं।

Please follow and like us:
error700
fb-share-icon5001
Tweet 20
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर