वीर बाल दिवस: प्रधानमंत्री ने कहा, देश की आजादी के अमृत काल में नये अध्याय का आरंभ

वीर बाल दिवस

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वीर बाल दिवस के अवसर पर कहा है कि इस महत्वपूर्ण दिन के साथ ही देश की आजादी के अमृत काल में नये अध्याय का आरंभ हो रहा है। नई दिल्ली के भारत मंडपम में आयोजित वीर बाल दिवस कार्यक्रम में शिरकत करते हुए उन्होंने यह उत्साहजनक संबोधन दिया और देशवासियों को युवा पीढ़ी के उत्कृष्टता की ओर मोड़ने का संकेत दिया। जब विश्व विभिन्न चुनौतियों से जूझ रहा है, भारत महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।एयर (AIR) के ट्वीट के अनुसार

नए अध्याय की शुरुआत

प्रधानमंत्री ने कहा, “अर्थशास्त्र, विज्ञान, शोध, खेल, और नीतिगत मामलों में, हर क्षेत्र में भारत नई ऊँचाईयों की ओर कदम बढ़ा रहा है।” उन्होंने जोड़ते हुए कहा कि यह वक्त है जब हमें अपने प्रत्येक क्षेत्र में महत्वपूर्ण प्रगति करने की आवश्यकता है और यह देश का नया अध्याय है।

वीर बाल दिवस का महत्व

पहली बार वीर बाल दिवस का आयोजन पिछले वर्ष हुआ था, और प्रधानमंत्री ने इसे देश की रक्षा के लिए कुछ भी करने के जज्बे का प्रतीक माना। यह दिवस श्रद्धांजलि के रूप में गुरु गोबिन्द सिंह के पुत्रों, साहिबजादा बाबा जोरावर सिंह जी और बाबा फतेह सिंह जी की शहादत को याद करने के लिए मनाया जाता है।

गुरु गोबिन्द सिंह जी के प्रकाश पर्व के अवसर पर, प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले वर्ष जनवरी में हर वर्ष 26 दिसम्बर को वीर बाल दिवस मनाने की घोषणा की थी।

ये भी पढ़ें:मोदी ने खोला भारतीय सांस्कृतिक खजाने का सीरियस राज, एक महान संकलित कृतियों की पहली श्रृंखला का खुलासा

देशभर में आयोजित कार्यक्रम

इस अवसर पर सरकार देशभर में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित कर रही है, जिसमें नागरिकों को विशेष रूप से युवाओं और बच्चों को साहिबजादाओं के अदम्य साहस की कहानी के बारे में जानकारी दी जा रही है। इसके अलावा, देश भर के स्कूलों और बच्चों की देखभाल वाली संस्थाओं में साहिबजादाओं के जीवन और उनके त्याग के बारे में डिजिटल प्रदर्शनी भी लगाई गई है।

इसके अतिरिक्त, माय भारत और माय गॉव पोर्टलों के माध्यम से आयोजित की जा रही विभिन्न ऑनलाइन प्रतियोगिताएं जैसे प्रश्नोत्तरी भी हैं, जिनमें लोग भाग ले सकते हैं।

प्रधानमंत्री का आह्वान

प्रधानमंत्री ने युवाओं से अपने स्वास्थ्य को शीर्ष प्राथमिकता देने की सलाह दी और उन्हें उनके लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए सद्गुण स्वास्थ्य को बनाए रखने की अपील की।

प्रधानमंत्री ने कहा, “आज पूरे विश्व में भारत की पहचान वहां बनी है जहां अवसर ही अवसर है।” उन्होंने जोर दिया कि भारत अर्थव्यवस्था, विज्ञान, शोध, खेल, और कूटनीति की वैश्विक समस्याओं को सुलझाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।

श्री मोदी ने अपने लालकिले से किए गए आह्वान को भी दोहराया, “यही समय है, सही समय है।” उन्होंने युवाओं को समर्पित और स्वस्थ जीवन जीने के लिए प्रेरित किया, क्योंकि यह जीवन में इच्छित परिणामों को हासिल करने के लिए अत्यंत आवश्यक है।

ये भी पढ़ें:प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ऐतिहासिक संबोधन: गरीबों की सेवा और वंचितों का सम्मान सरकार की प्राथमिकता

FAQs:

Q1: वीर बाल दिवस क्या है?

उत्तर: वीर बाल दिवस एक महत्वपूर्ण दिन है जो भारत में मनाया जाता है, जिसके मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के आजादी के अमृत काल में नए अध्याय की शुरुआत का आलेखन किया। वीर बाल दिवस का आयोजन पहली बार पिछले वर्ष हुआ था, और इस दिवस को गुरु गोबिन्द सिंह के पुत्रों, साहिबजादा बाबा जोरावर सिंह जी और बाबा फतेह सिंह जी की शहादत की श्रद्धांजलि के रूप में मनाया जाता है।

Q2: किसने वीर बाल दिवस के मौके पर संबोधन दिया?

उत्तर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीर बाल दिवस के मौके पर संबोधन दिया और उन्होंने देश की आजादी के अमृत काल में नए अध्याय की शुरुआत का आलेखन किया।

Q3: नए अध्याय की शुरुआत के बारे में प्रधानमंत्री ने क्या कहा?

उत्तर: प्रधानमंत्री ने कहा कि अर्थशास्त्र, विज्ञान, शोध, खेल, और नीतिगत मामलों में, हर क्षेत्र में भारत नई ऊँचाईयों की ओर कदम बढ़ा रहा है और यह वक्त है जब हमें अपने प्रत्येक क्षेत्र में महत्वपूर्ण प्रगति करने की आवश्यकता है।

Q4: वीर बाल दिवस का महत्व क्या है?

उत्तर: वीर बाल दिवस का आयोजन पहली बार पिछले वर्ष हुआ था, और इस दिवस को गुरु गोबिन्द सिंह के पुत्रों, साहिबजादा बाबा जोरावर सिंह जी और बाबा फतेह सिंह जी की शहादत की श्रद्धांजलि के रूप में मनाया जाता है।

Q5: इस अवसर पर देशभर में कौन-कौन से कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं?

उत्तर: देशभर में इस अवसर पर सरकार विभिन्न कार्यक्रम आयोजित कर रही है, जिसमें नागरिकों को साहिबजादाओं के अदम्य साहस की कहानी के बारे में जानकारी दी जा रही है, और साहिबजादाओं के जीवन और त्याग के बारे में डिजिटल प्रदर्शनी भी हो रही है।

Q6: प्रधानमंत्री ने युवाओं से क्या कहा?

उत्तर: प्रधानमंत्री ने युवाओं से अपने स्वास्थ्य को शीर्ष प्राथमिकता देने की सलाह दी और उन्हें उनके लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए सद्गुण स्वास्थ्य को बनाए रखने की अपील की।

 

Please follow and like us:
error700
fb-share-icon5001
Tweet 20
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर