This site for your education.

The New Sites

Any query

thenewsites20@gmail.com

Happiness is the highest level of success.

डिजिटल जीवन प्रमाण-पत्र: पेंशनभोगियों के लिए एक आसान और सुरक्षित विकल्प

नई दिल्ली: भारत सरकार ने आगामी साल मार्च तक केन्द्र सरकार के पेंशन भोगियों द्वारा 50 लाख डिजिटल प्रमाणपत्र जमा करने का महत्वपूर्ण कदम उठाया है। यह निर्णय पेंशन और पेंशनभोगी कल्याण विभाग के तरफ से किया गया है, जिसका उद्देश्य डिजिटल भारत की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम बढ़ाना है।

डिजिटल जीवन प्रमाण-पत्र:

एक सशक्त भविष्य की दिशा में यह मुहिम पेंशनभोगियों को डिजिटल जीवन प्रमाण-पत्र का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित करने का हिस्सा है, जिससे सरकार एक सुरक्षित, आसान, और सुगम तरीके से सेवाएं प्रदान कर सकती है। इस पहल के अंतर्गत, सरकार ने पेंशनभोगियों के साथ मिलकर एक राष्ट्रव्यापी अभियान की शुरुआत की है, जो डिजिटल जीवन प्रमाण-पत्र को बढ़ावा देगा और उन्हें सशक्त बनाए रखेगा।

पेंशन और पेंशनभोगी कल्याण विभाग की पहल: अभियान का दूसरा चरण

पेंशन और पेंशनभोगी कल्याण विभाग ने इस उद्देश्य को हासिल करने के लिए पेंशनभोगी कल्याण संघों और 16 बैंकों के नोडल अधिकारियों के साथ मिलकर काम किया है। इस अभियान का दूसरा चरण हाल ही में समीक्षा के तौर पर आयोजित किया गया था, जिसमें विभाग के सचिव, वी0 श्रीनिवास ने समिति के सभी सदस्यों के सामने यह लक्ष्य रखा गया है।

ये भी पढ़ें: वीर बाल दिवस: प्रधानमंत्री ने कहा, देश की आजादी के अमृत काल में नये अध्याय का आरंभ

सचिव श्रीनिवास की सभी पेंशनभोगियों से अपील बैठक में

वी0 श्रीनिवास ने सभी पेंशनभोगियों से डिजिटल जीवन प्रमाण-पत्र को जमा करने के लिए सक्रिय रूप से योगदान करने की अपील की है। उन्होंने बताया कि यह पहल सरकार के लक्ष्यों को हासिल करने के लिए कदम उठाने का हिस्सा है और इससे सभी पेंशनभोगियों को एक आत्मनिर्भर और सुरक्षित जीवन की दिशा में मदद होगी।

डिजिटल जीवन प्रमाण-पत्र के लाभ:

डिजिटल जीवन प्रमाण-पत्र का उपयोग करने से पेंशनभोगियों को कई लाभ होंगे। यह न केवल उन्हें सुरक्षित रूप से ऑनलाइन बैंकिंग और अन्य सरकारी सेवाओं का उपयोग करने की सुविधा देगा, बल्कि इससे पेंशन और अन्य लाभों का व्यापक विवरण भी मिलेगा। इससे पेंशनभोगियों को लाभार्थी योजनाओं के साथ जुड़ने में भी आसानी होगी।

ये भी पढ़ें: भारतीय नौसेना के विस्फोटक आयुध रोधी दल ने व्यावसायिक जहाज एम वी केम प्लूटो का निरीक्षण किया

सशक्त भविष्य की दिशा में कदम:

डिजिटल जीवन प्रमाण-पत्र के सुधार के माध्यम से सरकार ने सशक्त भविष्य की दिशा में एक और महत्वपूर्ण कदम उठाया है। यह पहल न केवल बुनियादी सेवाओं को सुधारेगी, बल्कि डिजिटल भारत की दिशा में भी एक महत्वपूर्ण योजना है। इसके माध्यम से, सरकार ने अपने नागरिकों को नए और आधुनिक तकनीकी उपायों का लाभ उठाने का एक माध्यम प्रदान किया है।

समाप्ति से पहले लक्ष्य हासिल करने की कड़ी मेहनत:

सभी संबंधित विभागों, बैंकों, और संगठनों ने मिलकर डिजिटल जीवन प्रमाण-पत्र के लक्ष्य को हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं। इस प्रक्रिया में सफलता प्राप्त करने के लिए सभी पेंशनभोगियों से अपील की जाती है कि वे इस अद्भुत पहल में सक्रिय रूप से शामिल हों और अपना योगदान दें।

नया युग: डिजिटल जीवन की ओर

इस पहल के माध्यम से, हम एक नए युग की ओर बढ़ रहे हैं जहां सभी सार्वजनिक सेवाएं डिजिटल होंगी और नागरिकों को नए तकनीकी उपायों से जुड़ा जा सकेगा। यह न केवल सुविधाजनक है, बल्कि यह समाज में सामाजिक और आर्थिक समानता को बढ़ावा देगा और एक सशक्त भविष्य की दिशा में हमें एक कदम और नजदीक ले जाएगा।

इस पहल के माध्यम से, सरकार ने एक और महत्वपूर्ण कदम उठाकर दिखाया है कि वह नागरिकों को दिनचर्या में होने वाले बदलावों के साथ जोड़ने के लिए सक्षम है। मार्च तक 50 लाख डिजिटल जीवन प्रमाण-पत्र जमा करने का लक्ष्य स्थापित करने से सारे देश में एक नए और सुरक्षित डिजिटल युग की शुरुआत होगी। यह सभी नागरिकों को एक नए भविष्य की दिशा में एक सकारात्मक कदम बढ़ाने का समय है।

ये भी पढ़ें: भारतीय नौसेना ने ‘इंफाल’ का अनावरण किया: उन्नत सुरक्षा के लिए नवीनतम स्टील्थ गाइडेड मिसाइल युद्धपोत

FAQs:

सरकार ने क्या महत्वपूर्ण कदम उठाया है?

जवाब: सरकार ने आगामी साल मार्च तक केन्द्र सरकार के पेंशन भोगियों द्वारा 50 लाख डिजिटल प्रमाणपत्र जमा करने का महत्वपूर्ण कदम उठाया है।

इस पहल का उद्देश्य क्या है?

जवाब: इस पहल का उद्देश्य डिजिटल भारत की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम बढ़ाना है और पेंशनभोगियों को डिजिटल जीवन प्रमाण-पत्र का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित करना है।

कैसे यह पहल पेंशन और पेंशनभोगी कल्याण विभाग की पहल है?

जवाब: इस पहल के दूसरे चरण में, पेंशन और पेंशनभोगी कल्याण विभाग ने पेंशनभोगी कल्याण संघों और 16 बैंकों के नोडल अधिकारियों के साथ मिलकर काम किया है।

क्या डिजिटल जीवन प्रमाण-पत्र के लाभ क्या हैं?

जवाब: डिजिटल जीवन प्रमाण-पत्र का उपयोग करने से पेंशनभोगियों को सुरक्षित रूप से ऑनलाइन बैंकिंग और अन्य सरकारी सेवाओं का उपयोग करने की सुविधा मिलेगी, और इससे पेंशन और अन्य लाभों का व्यापक विवरण भी मिलेगा।

इस पहल से कैसे बढ़ेगा सशक्त भविष्य?

जवाब: इस पहल के माध्यम से, सरकार ने सशक्त भविष्य की दिशा में एक और महत्वपूर्ण कदम उठाया है, जिससे नागरिकों को नए और आधुनिक तकनीकी उपायों का लाभ मिलेगा।

कब तक है लक्ष्य 50 लाख डिजिटल जीवन प्रमाण-पत्र जमा करने का?

जवाब: इस पहल के माध्यम से, सरकार ने मार्च तक 50 लाख डिजिटल जीवन प्रमाण-पत्र जमा करने का लक्ष्य स्थापित किया है।

कैसे नागरिक इस पहल में शामिल हो सकते हैं?

जवाब: सभी पेंशनभोगियों से अपील की जा रही है कि वे इस अद्भुत पहल में सक्रिय रूप से शामिल हों और अपना योगदान दें।

इस पहल का उद्देश्य क्या है?

जवाब: इस पहल का उद्देश्य सभी नागरिकों को एक नए और सुरक्षित डिजिटल युग की शुरुआत करना है, जिससे उन्हें एक सकारात्मक भविष्य की दिशा में एक कदम आगे बढ़ाने का समय है।

इस पहल में कौन-कौन से संगठन और विभाग शामिल हैं?

जवाब: इस पहल में सभी संबंधित विभागों, बैंकों, और संगठनों ने मिलकर कड़ी मेहनत कर रहे हैं ताकि लक्ष्य हासिल हो सके।

 

error: Content is protected !!
झारखंड में 4919 कॉन्स्टेबल पदों पर भर्ती DSSSB ने TGT में 5118 रिक्त पदों पर भर्ती निकाली नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया में निकली भर्ती MP पावर जनरेटिंग कंपनी में अप्रेंटिस वैकेंसी जनरल इंश्योरेंस कॉर्पोरेशन में स्केल I ऑफिसर की वैकेंसी
झारखंड में 4919 कॉन्स्टेबल पदों पर भर्ती DSSSB ने TGT में 5118 रिक्त पदों पर भर्ती निकाली नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया में निकली भर्ती MP पावर जनरेटिंग कंपनी में अप्रेंटिस वैकेंसी जनरल इंश्योरेंस कॉर्पोरेशन में स्केल I ऑफिसर की वैकेंसी