The New Sites

संक्षेप नोट्स और MCQ परीक्षा के दृष्टि से: भारत ने 46वीं अंटार्कटिक संधि परामर्श बैठक और 26वीं पर्यावरण संरक्षण समिति की सफलतापूर्वक मेजबानी की

भारत ने ATCM -46 और CEP -26 की सफलतापूर्वक मेजबानी की

परिचय

  • इवेंट: 46वीं अंटार्कटिक संधि परामर्श बैठक (ATCM-46) और 26वीं पर्यावरण संरक्षण समिति (CEP-26)
  • तिथि और स्थान: 20-30 मई, 2024, कोच्चि, केरल, भारत
  • मेजबान: भारत का पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय

मुख्य घोषणाएँ

  • अंटार्कटिक अनुसंधान स्टेशन: मैत्री-II स्थापित करने की योजना की घोषणा मंत्री किरेन रिजिजू द्वारा
  • थीम: “वसुधैव कुटुम्बकम” – एक पृथ्वी, एक परिवार, एक भविष्य

उद्घाटन

  • विशिष्ट अतिथि:
    • किरेन रिजिजू (मंत्री)
    • राजदूत पवन कपूर (सचिव, पश्चिम, विदेश मंत्रालय)
    • डॉ. शैलेश नायक (निदेशक, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस स्टडीज, बेंगलुरु)
    • राजदूत पंकज सरन (एटीसीएम-46 के अध्यक्ष)
    • डॉ. विजय कुमार (वैज्ञानिक सलाहकार, पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय)

प्रमुख परिणाम

  • मैत्री-II स्टेशन: व्यापक पर्यावरणीय मूल्यांकन शीघ्र प्रस्तुत करने की योजना
  • प्रतिबद्धता: अंटार्कटिका के पारिस्थितिकी तंत्र की रक्षा और वैश्विक पर्यावरणीय स्थिरता को बढ़ावा देने पर जोर

आयोजक और सहयोगी

  • मुख्य आयोजक: पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय, एनसीपीओआर (नेशनल सेंटर फॉर पोलर एंड ओशन रिसर्च) के माध्यम से
  • सहयोगी: अर्जेंटीना स्थित अंटार्कटिक संधि सचिवालय

प्रमुख चर्चाएँ

  • पर्यावरण प्रोटोकॉल: अंटार्कटिक संधि (1959) और मैड्रिड प्रोटोकॉल (1991) की पुष्टि
  • पर्यटन फ्रेमवर्क: दक्षिणी महाद्वीप के लिए पर्यटन ढांचे का विकास
  • समुद्री बर्फ प्रबंधन: भविष्य के कार्यों को प्राथमिकता
  • सम्राट पेंगुइन: संरक्षण रणनीतियाँ
  • पर्यावरण निगरानी: अंतरराष्ट्रीय ढांचे का विकास

CEP-26 हाइलाइट्स

  • तिथि: 20-24 मई, 2024
  • प्रमुख क्षेत्र:
    • पर्यावरणीय प्रभाव आकलन
    • सम्राट पेंगुइन संरक्षण
    • 17 प्रबंधन योजनाओं का अपनाना
    • जैव सुरक्षा उपाय

अतिरिक्त कार्यक्रम

  • संगोष्ठी: “बदलते अंटार्कटिका और आगे की चुनौतियाँ” कोरियाई ध्रुवीय अनुसंधान संस्थान और कोबे विश्वविद्यालय के सहयोग से
  • आउटरीच:
    • भारतीय डाक द्वारा कस्टमाइज्ड माईस्टैम्प जारी
    • स्कूली बच्चों द्वारा डिजाइन की गई भित्तिचित्र का अनावरण
    • कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए पैनल चर्चा

सहभागिता

  • प्रतिनिधि: 56 देशों के 400 से अधिक प्रतिनिधि
  • चर्चा के विषय:
    • दायित्व, जैविक संभावना, सूचना का आदान-प्रदान
    • शिक्षा, रणनीतिक कार्य योजनाएँ, सुरक्षा
    • विज्ञान, जलवायु परिवर्तन प्रभाव, पर्यटन प्रबंधन

महत्वपूर्ण निर्णय

  • पर्यटन विनियमन: पर्यटन और गैर-सरकारी गतिविधियों को विनियमित करने के लिए ढांचे का विकास
  • परामर्श अनुरोध: कनाडा और बेलारूस के अनुरोधों पर चर्चा, लेकिन कोई सहमति नहीं

निष्कर्ष

  • निर्देशक का नोट: डॉ. थंबन मेलोथ ने सफल मेजबानी के लिए टीम को बधाई दी और ध्रुवीय कार्यक्रमों में भारत की सक्रिय भागीदारी पर जोर दिया।

MCQs:

1. किस भारतीय मंत्रालय ने 46वीं अंटार्कटिक संधि परामर्श बैठक (ATCM-46) और 26वीं पर्यावरण संरक्षण समिति (CEP-26) की मेजबानी की?

  1. विदेश मंत्रालय
  2. विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय
  3. पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय
  4. पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय

उत्तर: C. पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय

स्पष्टीकरण: यह कार्यक्रम पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय द्वारा आयोजित किया गया था, जिसमें अंटार्कटिक अनुसंधान और पर्यावरण संरक्षण के लिए भारत की प्रतिबद्धता पर प्रकाश डाला गया।

2. भारत द्वारा घोषित प्रस्तावित नया अंटार्कटिक अनुसंधान स्टेशन क्या है?

  1. भारती-II
  2. मैत्री-II
  3. दक्षिण गंगोत्री-II
  4. हिमाद्री-II

उत्तर: B. मैत्री-II

स्पष्टीकरण: मैत्री-II अंटार्कटिक अनुसंधान स्टेशन की स्थापना की घोषणा अंटार्कटिका में अपनी अनुसंधान क्षमताओं को बढ़ाने की भारत की योजना को दर्शाती है।

3. ATCM-46 का व्यापक विषय क्या था?

  1. वैश्विक पर्यावरणीय स्थिरता
  2. शांति और वैज्ञानिक सहयोग
  3. वसुधैव कुटुम्बकम – एक पृथ्वी, एक परिवार, एक भविष्य
  4. सतत अंटार्कटिक शासन

उत्तर: C. वसुधैव कुटुम्बकम – एक पृथ्वी, एक परिवार, एक भविष्य

स्पष्टीकरण: यह विषय अंटार्कटिक संधि प्रणाली के शांति, वैज्ञानिक सहयोग और संरक्षण के सिद्धांतों के साथ गहराई से प्रतिध्वनित होता है।

4. 46वें ATCM के अध्यक्ष के रूप में किसे चुना गया?

  1. डॉ. शैलेश नायक
  2. डॉ. एम. रविचंद्रन
  3. राजदूत पंकज सरन
  4. डॉ. विजय कुमार

उत्तर: C. राजदूत पंकज सरन

स्पष्टीकरण: पूर्व उप राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार, राजदूत पंकज सरन को रणनीतिक और सुरक्षा मामलों में उनकी विशेषज्ञता को उजागर करते हुए अध्यक्ष के रूप में चुना गया।

5. किस प्रोटोकॉल की पुष्टि ATCM-46 का एक महत्वपूर्ण हिस्सा थी?

  1.  क्योटो प्रोटोकॉल
  2. मैड्रिड प्रोटोकॉल
  3. पेरिस समझौता
  4. मॉन्ट्रियल प्रोटोकॉल

उत्तर: B. मैड्रिड प्रोटोकॉल

स्पष्टीकरण: मैड्रिड प्रोटोकॉल (1991) अंटार्कटिका में पर्यावरण संरक्षण के लिए महत्वपूर्ण है, जो इसके अद्वितीय पारिस्थितिकी तंत्र को संरक्षित करने की प्रतिबद्धता को मजबूत करता है।

6. CEP-26 ने भविष्य के काम के लिए किस विशिष्ट पर्यावरणीय चुनौती को प्राथमिकता दी?

  1. प्लास्टिक प्रदूषण
  2. समुद्री बर्फ परिवर्तन
  3. नवीकरणीय ऊर्जा कार्यान्वयन
  4. जैव विविधता हानि

उत्तर: B. समुद्री बर्फ परिवर्तन

स्पष्टीकरण: समिति ने समुद्री बर्फ परिवर्तनों के निहितार्थों पर जोर दिया, जो अंटार्कटिका में जलवायु-संबंधी प्रभावों को संबोधित करने की तात्कालिकता को दर्शाता है।

7. कोरियाई ध्रुवीय अनुसंधान संस्थान और कोबे विश्वविद्यालय के सहयोग से किस प्रकार का कार्यक्रम आयोजित किया गया था?

  1. अंटार्कटिक पर्यटन पर कार्यशाला
  2. जलवायु परिवर्तन के प्रभावों पर संगोष्ठी
  3. “बदलते अंटार्कटिका और भविष्य की चुनौतियाँ” शीर्षक से संगोष्ठी
  4. ध्रुवीय रसद पर सम्मेलन

उत्तर: C. “बदलते अंटार्कटिका और भविष्य की चुनौतियाँ” शीर्षक से संगोष्ठी

स्पष्टीकरण: संगोष्ठी में अंटार्कटिका के भविष्य के लिए शासन चुनौतियों और साझा जिम्मेदारियों पर ध्यान केंद्रित किया गया, जिसमें अंतर्राष्ट्रीय सहयोग को प्रदर्शित किया गया।

8. किस पहल का उद्देश्य स्कूली बच्चों में अंटार्कटिका के बारे में जागरूकता बढ़ाना था?

  1. स्कूलों में विज्ञान मेले
  2. एक अनुकूलित माईस्टैम्प रिलीज़
  3. “प्रजातियों से समृद्ध अंटार्कटिका” थीम पर एक भित्ति चित्र
  4. शैक्षिक कार्यशालाएँ

उत्तर: C. “प्रजातियों से समृद्ध अंटार्कटिका” थीम पर एक भित्ति चित्र

स्पष्टीकरण: स्कूली बच्चों द्वारा डिज़ाइन किए गए और जर्मन सहयोगियों की मदद से अनावरण किए गए भित्ति चित्र का उद्देश्य अंटार्कटिका के बारे में युवा दिमागों में जागरूकता बढ़ाना था।

9. किस इकाई ने ATCM-46 और CEP-26 के आयोजन के लिए पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के साथ सहयोग किया?

  1. संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम
  2. आर्कटिक परिषद
  3. अंटार्कटिक संधि सचिवालय, अर्जेंटीना
  4. विश्व मौसम विज्ञान संगठन

उत्तर: C. अंटार्कटिक संधि सचिवालय, अर्जेंटीना

स्पष्टीकरण: अंटार्कटिक संधि सचिवालय, अर्जेंटीना के साथ सहयोग इन महत्वपूर्ण बैठकों के आयोजन में अंतर्राष्ट्रीय सहयोग को रेखांकित करता है।

10. ATCM-46 में पर्यटन प्रबंधन से संबंधित एक महत्वपूर्ण परिणाम क्या था?

  1. अंटार्कटिका में सभी पर्यटन गतिविधियों पर प्रतिबंध लगाना
  2. पर्यटन और गैर-सरकारी गतिविधियों को विनियमित करने के लिए एक व्यापक, लचीला और गतिशील ढांचा विकसित करना
  3. नए पर्यटन क्षेत्र स्थापित करना
  4. सालाना पर्यटकों की संख्या सीमित करना

उत्तर: B. पर्यटन और गैर-सरकारी गतिविधियों को विनियमित करने के लिए एक व्यापक, लचीला और गतिशील ढांचा विकसित करना

स्पष्टीकरण: इस तरह के ढांचे को विकसित करने का निर्णय अंटार्कटिका के नाजुक पर्यावरण के संरक्षण के साथ पर्यटन को संतुलित करने की आवश्यकता को दर्शाता है।

(Source: AIR News, PIB News, DD News, BBC News, Bhaskar News ,Wikipedia)

ये भी पढ़ें:राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुर्मु ने कैंसर उपचार के लिए भारत की पहली घरेलू जीन थेरेपी का शुभारंभ किया

ये भी पढ़ें:Myth vs Reality Register: निर्वाचन आयोग ने ‘मिथक बनाम वास्तविकता रजिस्टर’ की शुरुआत की

Please follow and like us:
error700
fb-share-icon5001
Tweet 20
fb-share-icon20
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर
Advantages of local domestic helper.