The New Sites

सेंट्रल इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड को मिनी रत्न का दर्जा प्राप्त 

संक्षेप नोट्स और MCQs परीक्षा के दृष्टि से

केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने सेंट्रल इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (CEL) को ‘मिनी रत्न’ (श्रेणी-1) का दर्जा देने की घोषणा की

  • समारोह:
    • स्थान: गाजियाबाद परिसर
    • अवसर: CEL के स्वर्ण जयंती समारोह
  • घोषणा:
    • मंत्री: डॉ. जितेंद्र सिंह
    • दर्जा: ‘मिनी रत्न’ (श्रेणी-1)
  • उपस्थित अतिथि:
    • उपराष्ट्रपति: श्री जगदीप धनखड़
    • उत्तर प्रदेश कैबिनेट मंत्री: श्री सुनील कुमार शर्मा
    • CSIR के महानिदेशक: डॉ. एन. कलईसेलवी
    • CEL के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक: श्री चेतन जैन
  • प्रदर्शन:
    • वित्तीय स्थिरता
    • लाभप्रदता
    • परिचालन उत्कृष्टता
    • टर्नओवर, नेटवर्थ, रिजर्व, नेट प्रॉफिट में वृद्धि
  • उपलब्धियां:
    • घाटे से लाभांश देने वाली पीएसयू में परिवर्तन
    • लगातार तीसरे वर्ष लाभांश भुगतान
    • 58 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ
  • प्रधानमंत्री के विजन:
    • क्षमता निर्माण
    • कौशल विकास
    • स्वदेशी प्रौद्योगिकी
    • विनिर्माण प्रोत्साहन
  • क्षेत्रीय योगदान:
    • रक्षा, रेलवे, सुरक्षा, निगरानी, सौर ऊर्जा
    • स्मार्ट बोर्ड उत्पादन और स्मार्ट शिक्षा
  • प्रशंसा:
    • कर्मचारियों के जुड़ाव में सुधार
    • सर्वकालिक उच्च प्रदर्शन
    • ‘मिनी रत्न’ (श्रेणी-1) के मापदंडों की पूर्ति

सेंट्रल इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (CEL) के बारे में

  • उद्यम:
    • भारत सरकार का उद्यम
    • मंत्रालय: विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय, वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान विभाग (DSIR)
  • स्थापना:
    • वर्ष: 26 जून 1974
    • उद्देश्य: स्वदेशी प्रौद्योगिकियों का व्यावसायिक दोहन
  • कंपनी विवरण:
    • प्रकार: सार्वजनिक क्षेत्र
    • उद्योग: अभियांत्रिकी
    • मुख्यालय: नई दिल्ली
    • सेवाकृत क्षेत्र: भारत
    • प्रमुख व्यक्ति: चेतन प्रकाश जैन (अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक)
  • उत्पाद:
    • सौर फोटोवोल्टिक
    • रेलवे इलेक्ट्रॉनिक्स
    • सिरेमिक
  • विकास और अनुसंधान:
    • सहयोग: रक्षा प्रयोगशालाएं, राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय प्रयोगशालाएं
    • पुरस्कार: डीएसआईआर राष्ट्रीय पुरस्कार
    • रक्षा को आपूर्ति
  • सौर फोटोवोल्टिक (SPV):
    • अग्रणी: देश में अग्रणी
    • मानक: IEC 61215/61730
  • रेलवे उत्पाद:
    • एक्सल काउंटर सिस्टम
    • सिंगल सेक्शन डिजिटल एक्सल काउंटर (SSDAC)
    • हाई अवेलेबिलिटी एसएसडीएसी (HA-SSDAC)
    • मल्टी-सेक्शन डिजिटल एक्सल काउंटर (MSDAC)
    • यूनिवर्सल फेल सेफ ब्लॉक इंटरफेस (UFSBI)
    • मानक: CENELEC

सेंट्रल इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड को मिनी रत्न का दर्जा प्राप्त से सम्बंधित MCQs:

1. किसने सेंट्रल इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (CEL) को ‘मिनी रत्न’ (श्रेणी-1) का दर्जा देने की घोषणा की?

  1. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
  2. उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़
  3. डॉ. जितेंद्र सिंह
  4. डॉ. एन. कलईसेलवी

उत्तर: C. डॉ. जितेंद्र सिंह

स्पष्टीकरण: केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने स्वर्ण जयंती समारोह के दौरान सीईएल को ‘मिनी रत्न’ (श्रेणी-1) का दर्जा देने की घोषणा की।

2. डॉ. जितेंद्र सिंह के अनुसार, स्वदेशी प्रौद्योगिकियों और विनिर्माण क्षमताओं को बढ़ावा देने में CEL की क्या भूमिका है?

  1. रक्षा, रेलवे, सुरक्षा, निगरानी और सौर ऊर्जा
  2. दवा अनुसंधान और विकास
  3. अंतर्राष्ट्रीय व्यापार और वाणिज्य
  4. चिकित्सा उपकरण उत्पादन

उत्तर: A. रक्षा, रेलवे, सुरक्षा, निगरानी और सौर ऊर्जा

स्पष्टीकरण: डॉ. जितेंद्र सिंह ने रक्षा, रेलवे, सुरक्षा, निगरानी और सौर ऊर्जा में CEL के योगदान पर जोर दिया, स्वदेशी प्रौद्योगिकियों और विनिर्माण क्षमताओं को बढ़ावा देने में इसकी भूमिका पर प्रकाश डाला।

3. CEL ने अपनी 50 साल की सेवा का जश्न मनाने के लिए क्या मील का पत्थर हासिल किया?

  1. एक नई उत्पाद लाइन लॉन्च की
  2. लगभग 58 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ प्राप्त किया
  3. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर परिचालन का विस्तार किया
  4. एक नया विनिर्माण संयंत्र खोला

उत्तर: B. लगभग 58 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ प्राप्त किया

स्पष्टीकरण: CEL ने लगभग 58 करोड़ रुपये का उल्लेखनीय शुद्ध लाभ प्राप्त करके अपनी 50 साल की सेवा का जश्न मनाया, जैसा कि डॉ. जितेंद्र सिंह ने बताया।

4. किस विभाग के अंतर्गत सेंट्रल इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (CEL) संचालित होता है?

  1. रक्षा मंत्रालय
  2. विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय
  3. इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय
  4. वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय

उत्तर: B. विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय

स्पष्टीकरण: CEL विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय के अंतर्गत वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान विभाग (DSIR) के अंतर्गत संचालित होता है।

5. 1974 में CEL की स्थापना के पीछे प्राथमिक उद्देश्य क्या था?

  1. भारत में विदेशी प्रौद्योगिकी को बढ़ावा देना
  2. राष्ट्रीय प्रयोगशालाओं और अनुसंधान एवं विकास संस्थानों द्वारा विकसित स्वदेशी प्रौद्योगिकियों का व्यावसायिक रूप से दोहन करना
  3. नए इलेक्ट्रॉनिक विनिर्माण संयंत्र स्थापित करना
  4. अंतर्राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी फर्मों के साथ सहयोग करना

उत्तर: B. राष्ट्रीय प्रयोगशालाओं और अनुसंधान एवं विकास संस्थानों द्वारा विकसित स्वदेशी प्रौद्योगिकियों का व्यावसायिक रूप से दोहन करना

स्पष्टीकरण: CEL की स्थापना राष्ट्रीय प्रयोगशालाओं और अनुसंधान एवं विकास संस्थानों द्वारा विकसित स्वदेशी प्रौद्योगिकियों का व्यावसायीकरण करने के लिए की गई थी।

6. CEL किस प्राथमिक उद्योग में काम करता है?

  1. सूचना प्रौद्योगिकी
  2. फार्मास्युटिकल
  3. इंजीनियरिंग
  4. जैव प्रौद्योगिकी

उत्तर: C. इंजीनियरिंग

स्पष्टीकरण: CEL मुख्य रूप से इंजीनियरिंग उद्योग में काम करता है।

7. CEL की मुख्य उत्पाद श्रेणियाँ क्या हैं?

  1. उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स, IT सेवाएँ, फार्मास्यूटिकल्स
  2. सौर फोटोवोल्टिक, रेलवे इलेक्ट्रॉनिक्स, सिरेमिक
  3. ऑटोमोटिव पार्ट्स, रासायनिक उत्पाद, चिकित्सा उपकरण
  4. संचार उपकरण, कृषि उपकरण, घरेलू उपकरण

उत्तर: B. सौर फोटोवोल्टिक, रेलवे इलेक्ट्रॉनिक्स, सिरेमिक

स्पष्टीकरण: CEL की मुख्य उत्पाद श्रेणियों में सौर फोटोवोल्टिक, रेलवे इलेक्ट्रॉनिक्स और सिरेमिक शामिल हैं।

8. CEL के वर्तमान अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक कौन हैं?

  1. जगदीप धनखड़
  2. नरेंद्र मोदी
  3. डॉ. एन. कलईसेलवी
  4. चेतन प्रकाश जैन

उत्तर: D. चेतन प्रकाश जैन

स्पष्टीकरण: चेतन प्रकाश जैन CEL के वर्तमान अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक हैं।

9. CEL को अपने शोध एवं विकास प्रयासों के लिए कौन-सा उल्लेखनीय पुरस्कार मिला है?

  1. भौतिकी में नोबेल पुरस्कार
  2. DSIR द्वारा शोध एवं विकास के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार
  3. भारत रत्न
  4. पद्म श्री

उत्तर: B. DSIR  द्वारा शोध एवं विकास के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार

स्पष्टीकरण: CEL को अपने उत्कृष्ट शोध एवं विकास प्रयासों के लिए DSIR द्वारा शोध एवं विकास के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार मिला है।

10. CEL के सौर उत्पाद किन अंतर्राष्ट्रीय मानकों को पूरा करते हैं?

  1. ISO 9001
  2. IEC 61215/61730
  3. ASTM D642
  4. UL 94

उत्तर: B. IEC 61215/61730

स्पष्टीकरण: CEL के सौर उत्पाद अंतर्राष्ट्रीय मानकों IEC 61215/61730 को पूरा करने के लिए योग्य हैं।

11. रेलवे सिग्नलिंग में सुरक्षित ट्रेन संचालन के लिए CEL ने कौन-सी प्रणाली विकसित की है?

  1. एडवांस्ड GPS ट्रैकिंग सिस्टम
  2. डिजिटल इंटरलॉकिंग सिस्टम
  3. एक्सल काउंटर सिस्टम
  4. ऑटोमेटेड टिकटिंग सिस्टम

उत्तर: C. एक्सल काउंटर सिस्टम

स्पष्टीकरण: CEL ने रेलवे सिग्नलिंग में सुरक्षित ट्रेन संचालन के लिए एक्सल काउंटर सिस्टम विकसित किया है।

12. CEL द्वारा डिज़ाइन किया गया कौन सा उत्पाद ब्लॉक प्रूविंग बाय एक्सल काउंटर (BPAC) के लिए उपयोग किया जाता है?

  1. हाई अवेलेबिलिटी SSDAC (HA-SSDAC)
  2. सिंगल सेक्शन डिजिटल एक्सल काउंटर (SSDAC)
  3. यूनिवर्सल फेल सेफ ब्लॉक इंटरफ़ेस (UFSBI)
  4. उपरोक्त सभी

उत्तर: D. उपरोक्त सभी

स्पष्टीकरण: CEL ने BPAC के लिए कई उत्पाद डिज़ाइन किए हैं, जिनमें हाई अवेलेबिलिटी SSDAC (HA-SSDAC), सिंगल सेक्शन डिजिटल एक्सल काउंटर (SSDAC), और यूनिवर्सल फेल सेफ ब्लॉक इंटरफ़ेस (UFSBI) शामिल हैं।

13. रक्षा क्षेत्र में CEL की क्या रणनीतिक भूमिका है?

  1. उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स का विकास
  2. रणनीतिक अनुप्रयोगों के लिए महत्वपूर्ण घटकों की आपूर्ति
  3. कृषि उपकरणों का विनिर्माण
  4. इलेक्ट्रॉनिक सामानों का निर्यात

उत्तर: B. रणनीतिक अनुप्रयोगों के लिए महत्वपूर्ण घटकों की आपूर्ति

स्पष्टीकरण: CEL रक्षा क्षेत्र में रणनीतिक अनुप्रयोगों के लिए महत्वपूर्ण घटकों का विकास और आपूर्ति करता है।

(Source: AIR News, PIB News, DD News, BBC News, Bhaskar News ,Wikipedia)

ये भी पढ़ें:पूर्वी और पश्चिमी घाट के इलाकों में मीठे पानी में डायटम की एक नई प्रजाति की खोज

ये भी पढ़ें:संक्षेप नोट्स और MCQ परीक्षा के दृष्टि से: निमहांस को WHO से नेल्सन मंडेला पुरस्कार 2024 प्राप्त हुआ

ये भी पढ़ें:Merger between Walt Disney and Viacom18: वॉल्ट डिज़्नी और वायकॉम18 के बीच मिलने वाले सम्मिलन के बारे में

Please follow and like us:
error700
fb-share-icon5001
Tweet 20
fb-share-icon20
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर
Advantages of local domestic helper.