The New Sites

जापान ने DAICHI-4 उपग्रह लॉन्च किया

संक्षेप नोट्स और MCQ परीक्षा के दृष्टि से

1 जुलाई, 2024

  • जापान का तीसरा H3 लॉन्च व्हीकल (H3 F3: Flight No.3)
  • उन्नत भूमि अवलोकन उपग्रह (ALOS) या  DAICHI-4

उद्देश्य

  • एडवांस्ड लैंड ऑब्जर्विंग सैटेलाइट-4 (ALOS-4)
    • ऑनबोर्ड फेज्ड ऐरे टाइप L-बैंड सिंथेटिक अपर्चर रडार (PALSAR-3)
    • उच्च रिज़ॉल्यूशन और व्यापक अवलोकन पट्टी
    • JAXA और मित्सुबिशी इलेक्ट्रिक कॉरपोरेशन द्वारा विकास
  • रडार तकनीक की खूबियाँ
    • दिन और रात अवलोकन
    • बादलों और मौसम की परवाह किए बिना अवलोकन
    • आपदा प्रभावित क्षेत्रों, जंगलों, समुद्री बर्फ की निगरानी
  • जहाजों की निगरानी
    • स्वचालित पहचान प्रणाली (AIS) रिसीवर
    • अंतरिक्ष आधारित AIS प्रयोग (SPAISE3)
    • NEC कॉर्पोरेशन के सहयोग से विकास
  • ज्वालामुखी गतिविधि और भूकंप की निगरानी
    • समय पर आंकड़ों की तुलना
    • मैग्मा जलाशय और सतह विस्थापन का अनुमान
    • ज्वालामुखी गतिविधियों की समझ
  • अवलोकन आवृत्ति
    • हर दो सप्ताह में अवलोकन
    • आपदा निवारण एजेंसियों के लिए शुरुआती चेतावनी
    • उच्च रिज़ॉल्यूशन और विस्तृत अवलोकन पट्टी
  • आपदा निवारण के अलावा अन्य अनुप्रयोग
    • वनों की कटाई का ग्रीनहाउस गैसों से संबंध
    • JICA-JAXA वन प्रारंभिक चेतावनी प्रणाली (JJ-FAST)
    • छोटे वनों की कटाई वाले क्षेत्रों का सटीक और बार-बार अवलोकन
  • बुनियादी ढांचे के विस्थापन की निगरानी
    • बांधों, तटबंधों, बंदरगाह सुविधाओं का विश्लेषण
    • मिलीमीटर की सटीकता के साथ संरचनात्मक विकृति और अवतलन का पता लगाना
    • उपग्रह डेटा का उपयोग बुनियादी ढांचे के रखरखाव के लिए

प्रक्षेपण स्थान

  • तानेगाशिमा स्पेस सेंटर, क्यूशू तट, जापान
  • जापान एयरोस्पेस एक्सप्लोरेशन एजेंसी (JAXA)

कक्षा

  • निम्न पृथ्वी कक्षा (LEO)

विशेषता

  • जापान के रक्षा मंत्रालय द्वारा विकसित इन्फ्रारेड सेंसर

DAICHI-4 उपग्रह से सम्बंधित MCQs:

1. ALOS-4 उपग्रह का मुख्य उद्देश्य क्या है?

  1.  संचार प्रणालियों को बढ़ाना
  2.  उन्नत रडार तकनीक का उपयोग करके पृथ्वी की सतह का निरीक्षण करना
  3. अंतरिक्ष मलबे की निगरानी करना
  4. अंतरिक्ष उपनिवेशीकरण में प्रयोग करना

सही उत्तर: b) उन्नत रडार तकनीक का उपयोग करके पृथ्वी की सतह का निरीक्षण करना

स्पष्टीकरण: ALOS-4 उपग्रह एक उन्नत चरणबद्ध सरणी प्रकार L-बैंड सिंथेटिक एपर्चर रडार (PALSAR-3) से सुसज्जित है, जिसे पृथ्वी की सतह के उच्च-रिज़ॉल्यूशन और विस्तृत क्षेत्र के अवलोकन के लिए डिज़ाइन किया गया है।

2. ALOS-4 उपग्रह को विकसित करने के लिए किस संगठन ने JAXA के साथ सहयोग किया?

  1. NASA
  2. रोस्कोस्मोस
  3. मित्सुबिशी इलेक्ट्रिक कॉर्पोरेशन
  4. यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी

सही उत्तर: c) मित्सुबिशी इलेक्ट्रिक कॉर्पोरेशन

स्पष्टीकरण: मित्सुबिशी इलेक्ट्रिक कॉर्पोरेशन ने ALOS-4 उपग्रह को विकसित करने के लिए JAXA के साथ भागीदारी की, जो इसकी अवलोकन क्षमताओं को बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित करता है।

3. कौन सी अनूठी विशेषता ALOS-4 को मौसम की स्थिति की परवाह किए बिना निरीक्षण करने की अनुमति देती है?

  1. इन्फ्रारेड सेंसर
  2. सोलर पैनल
  3. L-बैंड रडार तकनीक
  4. ऑप्टिकल कैमरे

सही उत्तर: c) L-बैंड रडार तकनीक

स्पष्टीकरण: L-बैंड रडार तकनीक ALOS-4 को दिन-रात, मौसम की स्थिति की परवाह किए बिना, बादलों के माध्यम से भी निरीक्षण करने में सक्षम बनाती है।

4. आपदा निवारण के लिए ALOS-4 कितनी बार विशिष्ट क्षेत्रों का निरीक्षण करेगा?

  1.  महीने में एक बार
  2.  हर दो सप्ताह में
  3. सप्ताह में एक बार
  4.  हर छह महीने में

सही उत्तर: b) हर दो सप्ताह में

स्पष्टीकरण: ALOS-4 आपदा निवारण एजेंसियों के लिए समय पर डेटा प्रदान करने के लिए हर दो सप्ताह में निरीक्षण करेगा।

5. ALOS-4 उपग्रह में स्वचालित पहचान प्रणाली (AIS) रिसीवर होने का क्या लाभ है?

  1. यह सैटेलाइट नेविगेशन को बढ़ाता है
  2. यह समुद्री यातायात की निगरानी करता है
  3. यह सैटेलाइट संचार को बेहतर बनाता है
  4. यह मौसम के पैटर्न का पता लगाता है

सही उत्तर: b) यह समुद्री यातायात की निगरानी करता है

स्पष्टीकरण: ALOS-4 पर AIS रिसीवर इसे जहाजों से सिग्नल प्राप्त करने की अनुमति देता है, जिससे समुद्री यातायात की निगरानी में सहायता मिलती है और समुद्री सुरक्षा में सुधार होता है।

6. JICA-JAXA वन प्रारंभिक चेतावनी प्रणाली (JJ-FAST) का प्राथमिक फोकस क्या है?

  1. ज्वालामुखी विस्फोट की भविष्यवाणी करना
  2. वनों की कटाई की निगरानी करना
  3. शहरी विकास पर नज़र रखना
  4. ध्रुवीय बर्फ की टोपियों का निरीक्षण करना

सही उत्तर: b) वनों की कटाई की निगरानी करना

स्पष्टीकरण: JJ-FAST प्रणाली वन क्षेत्रों में परिवर्तनों का पता लगाने के लिए ALOS-2 और ALOS-4 से डेटा का उपयोग करके वनों की कटाई की निगरानी पर ध्यान केंद्रित करती है।

7. ALOS-4 उपग्रह कहाँ से लॉन्च किया गया था?

  1. कैनेडी स्पेस सेंटर
  2.  बैकोनूर कॉस्मोड्रोम
  3. तनेगाशिमा स्पेस सेंटर
  4. गुयाना स्पेस सेंटर

सही उत्तर: c) तनेगाशिमा स्पेस सेंटर

स्पष्टीकरण: ALOS-4 उपग्रह को जापान के क्यूशू तट पर स्थित तनेगाशिमा स्पेस सेंटर से लॉन्च किया गया था।

8. ALOS-4 को किस प्रकार की कक्षा में रखा गया है?

  1. भूस्थिर कक्षा
  2. मध्यम पृथ्वी कक्षा
  3. निम्न पृथ्वी कक्षा
  4. ध्रुवीय कक्षा

सही उत्तर: c) निम्न पृथ्वी कक्षा

स्पष्टीकरण: ALOS-4 को निम्न पृथ्वी कक्षा (LEO) में रखा गया है, जो पृथ्वी अवलोकन उपग्रहों के लिए उच्च-रिज़ॉल्यूशन डेटा प्रदान करने के लिए इष्टतम है।

9. ALOS-4 अपनी अवलोकन क्षमताओं के साथ किस नए क्षेत्र को चुनौती देगा?

  1. अंतरिक्ष पर्यटन
  2.  बुनियादी ढांचे के विस्थापन की निगरानी
  3. जलवायु परिवर्तन शमन
  4. क्षुद्रग्रह खनन

सही उत्तर: b) बुनियादी ढांचे के विस्थापन की निगरानी

स्पष्टीकरण: ALOS-4 क्रमिक और वृद्धिशील संरचनात्मक विकृतियों का पता लगाकर बुनियादी ढांचे के विस्थापन की निगरानी जैसे नए क्षेत्रों को चुनौती देगा।

10. भूमि विरूपण की निगरानी करने की ALOS-4 की क्षमता आपदा की रोकथाम में कैसे योगदान देती है?

  1. वैश्विक संचार नेटवर्क को बढ़ाकर
  2. वास्तविक समय के मौसम अपडेट प्रदान करके
  3. ज्वालामुखी गतिविधि और भूकंप के शुरुआती संकेतों का पता लगाकर
  4. महासागर तल का मानचित्रण करके

सही उत्तर: c) ज्वालामुखी गतिविधि और भूकंप के शुरुआती संकेतों का पता लगाकर

स्पष्टीकरण: ALOS-4 भूमि विरूपण की निगरानी कर सकता है और ज्वालामुखी गतिविधि और भूकंप के शुरुआती संकेतों का पता लगा सकता है, जो आपदा की रोकथाम और प्रारंभिक चेतावनी प्रणालियों के लिए महत्वपूर्ण डेटा प्रदान करता है।

(Source: AIR News, PIB News, DD News, BBC News, Bhaskar News ,Wikipedia)

ये भी पढ़ें:ग्रेट इंडियन बस्टर्ड और लेसर फ्लोरिकन के संरक्षण के लिए नई योजना

ये भी पढ़ें:IISER तिरुपति द्वारा हाइड्रोजन उत्पादन की नई विधि की खोज

ये भी पढ़ें:पूर्वी और पश्चिमी घाट के इलाकों में मीठे पानी में डायटम की एक नई प्रजाति की खोज

Please follow and like us:
error700
fb-share-icon5001
Tweet 20
fb-share-icon20
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर
Domestic helper visa extension hk$900.