The New Sites

CCRAS-CSMCARI और CIM&H-चेन्नई के बीच समझौता ज्ञापन (MoU) पर हस्ताक्षर

संक्षेप नोट्स और MCQs परीक्षा के दृष्टि से

मुख्य उद्देश्य:

  • भारतीय चिकित्सा और होम्योपैथी का उन्नयन

भागीदारी संस्थान:

  • केंद्रीय आयुर्वेदीय विज्ञान अनुसंधान परिषद् (CCRAS)
  • कैप्टन श्रीनिवास मूर्ति केंद्रीय आयुर्वेद अनुसंधान संस्थान (CSMCARI)
  • भारतीय चिकित्सा और होम्योपैथी आयुक्तालय (CIM&H)

प्रमुख घटना:

  • तिथि: 29 जून, 2024
  • स्थान: कलैगनार सेंटेनरी मल्टी-स्पेशलिटी अस्पताल, गिन्डी
  • उपस्थित अतिथि: तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री श्री एम.ए. सुब्रमण्यन, अतिरिक्त मुख्य सचिव आईएएस श्री गगन दीप सिंह

एमओयू के मुख्य बिंदु:

  • परीक्षण सेवाएं
  • प्रशिक्षण प्रदान करना
  • औषधि विषाक्तता अध्ययन और मानकीकरण

प्राथमिक उद्देश्य:

  • औषधि मानकीकरण हेतु परीक्षण
  • सीआईएमएंडएच प्रयोगशाला को एनएबीएल प्रत्यायन प्रशिक्षण
  • चयनित उच्च स्तरीय औषधियों की विषाक्तता अध्ययन

अपेक्षित परिणाम:

  • उन्नत गुणवत्ता और सुरक्षा: उच्च गुणवत्ता व सुरक्षा
  • विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रम: सीआईएमएंडएच प्रयोगशाला की क्षमताओं का संवर्द्धन
  • सहयोगात्मक अनुसंधान पहल: संयुक्त अनुसंधान परियोजनाएं
  • क्षमता निर्माण और ज्ञान का आदान-प्रदान: सहयोगात्मक वातावरण

महत्व:

  • भारतीय चिकित्सा और होम्योपैथी में नवाचार व उत्कृष्टता का प्रोत्साहन

CCRAS-CSMCARI और CIM&H-चेन्नई के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर से सम्बंधित MCQs:

1. CCRAS-CSMCRI और CIM&H के बीच हस्ताक्षरित समझौता ज्ञापन का मुख्य उद्देश्य क्या है?

  1. नई होम्योपैथिक दवाइयाँ विकसित करना
  2. भारतीय चिकित्सा और होम्योपैथी के क्षेत्र को उन्नत करना
  3. भारत में पश्चिमी चिकित्सा को बढ़ावा देना
  4. ग्रामीण क्षेत्रों में नए अस्पताल बनाना

उत्तर: b) भारतीय चिकित्सा और होम्योपैथी के क्षेत्र को उन्नत करना

स्पष्टीकरण: समझौता ज्ञापन का प्राथमिक उद्देश्य भारतीय चिकित्सा और होम्योपैथी को आगे बढ़ाना है।

2. विषय में उल्लिखित समझौता ज्ञापन में कौन-कौन सी संस्थाएँ शामिल हैं?

  1. CCRAS, CSMCRI, and CIM&H
  2. CCRAS, AIIMS, and CIM&H
  3. CSMCRI, AIIMS, and CIM&H
  4. CCRAS, IIT, and CIM&H

उत्तर: a) CCRAS, CSMCRI, and CIM&H

स्पष्टीकरण: समझौता ज्ञापन में केंद्रीय आयुर्वेदिक विज्ञान अनुसंधान परिषद (CCRAS), कैप्टन श्रीनिवास मूर्ति केंद्रीय आयुर्वेद अनुसंधान संस्थान (CSMCRI) और भारतीय चिकित्सा एवं होम्योपैथी आयुक्तालय (CIM&H) शामिल हैं।

3. समझौता ज्ञापन (MoU) पर हस्ताक्षर समारोह कहाँ आयोजित किया गया था?

  1. एम्स, दिल्ली
  2. आईआईटी मद्रास
  3. कलगनर सेंटेनरी मल्टी-स्पेशलिटी अस्पताल, गुइंडी
  4. अपोलो अस्पताल, चेन्नई

उत्तर: c) कलगनर सेंटेनरी मल्टी-स्पेशलिटी अस्पताल, गुइंडी

स्पष्टीकरण: समारोह गुइंडी में कलगनर सेंटेनरी मल्टी-स्पेशलिटी अस्पताल में आयोजित किया गया था।

4. समझौता ज्ञापन (MoU) पर हस्ताक्षर समारोह में उल्लेखनीय उपस्थित कौन थे?

  1. भारत के प्रधानमंत्री
  2. तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री और आईएएस गगनदीप सिंह
  3. तमिलनाडु के मुख्यमंत्री
  4. एम्स के निदेशक

उत्तर: b) तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री और आईएएस गगनदीप सिंह

स्पष्टीकरण: समारोह में तमिलनाडु के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री एम.ए. सुब्रमण्यन और अतिरिक्त मुख्य सचिव आईएएस गगनदीप सिंह ने भाग लिया।

5. समझौता ज्ञापन (MoU) का एक प्राथमिक उद्देश्य क्या है?

  1. नई शोध प्रयोगशालाओं का निर्माण
  2. विषाक्तता अध्ययनों का मानकीकरण और मूल्यांकन
  3. पश्चिमी चिकित्सा को बढ़ावा देना
  4. नए आयुर्वेदिक कॉलेज स्थापित करना

उत्तर: b) विषाक्तता अध्ययनों का मानकीकरण और मूल्यांकन

स्पष्टीकरण: एमओयू का एक प्राथमिक उद्देश्य चयनित उच्च श्रेणी की दवाओं के विषाक्तता अध्ययनों के मानकीकरण और मूल्यांकन के लिए शोध अध्ययन आयोजित करना है।

6. समझौता ज्ञापन (MoU) के तहत किस तरह का प्रशिक्षण प्रदान किया जाना है?

  1. क्लीनिकल प्रशिक्षण
  2. एनएबीएल मान्यता प्रशिक्षण
  3. सर्जिकल प्रशिक्षण
  4. फार्मास्युटिकल बिक्री प्रशिक्षण

उत्तर: ख) एनएबीएल मान्यता प्रशिक्षण

स्पष्टीकरण: समझौता ज्ञापन में सीआईएमएंडएच की प्रयोगशाला को एनएबीएल (राष्ट्रीय परीक्षण और अंशांकन प्रयोगशाला प्रत्यायन बोर्ड) मान्यता प्रशिक्षण प्रदान करना शामिल है।

7. कठोर परीक्षण और मानकीकरण प्रोटोकॉल के माध्यम से सहयोग का उद्देश्य क्या सुनिश्चित करना है?

  1. दवाओं की बिक्री में वृद्धि
  2. आयुर्वेदिक और होम्योपैथिक दवाओं की उच्च गुणवत्ता और सुरक्षा
  3. अनुसंधान लागत में कमी
  4. अस्पताल के बुनियादी ढांचे का विस्तार

उत्तर: ख) आयुर्वेदिक और होम्योपैथिक दवाओं की उच्च गुणवत्ता और सुरक्षा

स्पष्टीकरण: सहयोग का उद्देश्य कठोर परीक्षण और मानकीकरण प्रोटोकॉल के माध्यम से आयुर्वेदिक और होम्योपैथिक दवाओं की उच्च गुणवत्ता और सुरक्षा सुनिश्चित करना है।

8. समझौता ज्ञापन के तहत सहयोगी अनुसंधान पहलों का एक प्रत्याशित परिणाम क्या है?

  1. नए रोजगार के अवसरों का सृजन
  2. विषाक्तता का मूल्यांकन और उपचारों की सुरक्षा और प्रभावकारिता सुनिश्चित करना
  3. मेडिकल स्कूल ट्यूशन फीस में कमी
  4. अस्पताल के बिस्तरों की संख्या में वृद्धि

उत्तर: b) विषाक्तता का मूल्यांकन और उपचारों की सुरक्षा और प्रभावकारिता सुनिश्चित करना

स्पष्टीकरण: एक प्रत्याशित परिणाम विषाक्तता का मूल्यांकन और सहयोगी अनुसंधान पहलों के माध्यम से चयनित उच्च श्रेणी की दवाओं की सुरक्षा और प्रभावकारिता सुनिश्चित करना है।

(Source: AIR News, PIB News, DD News, BBC News, Bhaskar News ,Wikipedia)

ये भी पढ़ें:पटना उच्च न्यायालय ने बिहार में 65% आरक्षण को रद्द किया

ये भी पढ़ें:असम में जनता भवन सौर परियोजना का उद्घाटन

ये भी पढ़ें:नालंदा विश्वविद्यालय के नए परिसर का उद्घाटन

Please follow and like us:
error700
fb-share-icon5001
Tweet 20
fb-share-icon20
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर
Advantages of local domestic helper.