The New Sites

NCC Republic Day Camp 2024: उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने NCC गणतंत्र दिवस शिविर 2024 का उद्घाटन किया

NCC Republic Day Camp 2024: आज, उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने दिल्ली कैंट में आयोजित NCC गणतंत्र दिवस शिविर 2024 का आधिकारिक उद्घाटन किया। इस मौके पर उपस्थित NCC कैडेट्स के सामने बोलते हुए उन्होंने कहा कि युवा पीढ़ी का सक्रिय भागीदारी से ही एक सशक्त और विकसित राष्ट्र की ऊंचाइयों को छू सकते हैं। इसमें उन्होंने NCC कैडेट्स के योगदान की महत्वपूर्ण भूमिका को महत्वपूर्णता दी।

उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने बताया कि NCC में शामिल युवाओं की गतिशीलता से सांस्कृतिक और सामाजिक संरचना में सुधार होता है। उन्होंने साझा किए गए विचारों में NCC कैडेट्स को उत्साहित करते हुए कहा कि ये नए भारत के नेतृत्व का आदान-प्रदान कर सकते हैं।

उपराष्ट्रपति ने धनखड़ ने NCC गणतंत्र दिवस शिविर के महत्वपूर्ण और सकारात्मक मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करते हुए कहा, “सभी NCC कैडेट्स विभिन्न विषयों में अद्वितीय योगदान कर रहे हैं, और इनकी सक्रियता से ही हमारे समाज में नए परिवर्तन की संभावना है।”

ये भी पढ़ें: Earth Science Scheme: सरकार ने 4,797 करोड़ रुपये की पृथ्वी विज्ञान योजना को मंजूरी दी, विज्ञान में नए क्षेत्रों की ऊर्जा

NCC कैडेट्स को समर्थन में बढ़ावा

उपराष्ट्रपति ने कहा कि NCC में कार्रवाई, समर्पण, और अनुशासन के माध्यम से कैडेट्स को सक्रिय, उत्पादक, और समर्थनशील नागरिक बनाया जाता है। उन्होंने जोड़ते हुए कहा, “NCC में सिखाई जाने वाली महत्वपूर्ण मूल्यवान शिक्षाएं युवाओं को न केवल राष्ट्रीय स्तर पर बल्कि वैश्विक स्तर पर भी सशक्त बनाने में मदद कर रही हैं।”

समृद्धि और विकास में NCC कैडेट्स का महत्व

श्री धनखड़ ने बताया कि NCC कैडेट्स की सक्रियता से ही देश की समृद्धि और विकास में महत्वपूर्ण योगदान हो रहा है। उन्होंने कहा, “ये कैडेट्स अपने कार्यों और आचरण से विविधता में एकता का उदाहरण प्रस्तुत कर रहे हैं, और इससे हमारे समाज में एक मजबूत सामाजिक संबंध बनते जा रहे हैं।”

ये भी पढ़ें: All India Conference: पुलिस महानिदेशकों और पुलिस महानिरीक्षकों का तीन दिवसीय अखिल भारतीय सम्मेलन जयपुर में शुरू

NCC कैडेट्स को राष्ट्रीय जागरूकता के रूप में कार्य करने का प्रेरणा

उपराष्ट्रपति ने बताया कि NCC कैडेट्स को राष्ट्रीय जागरूकता के रूप में कार्य करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। उन्होंने सांस्कृतिक, धार्मिक, और भौगोलिक क्षेत्रों में एकीकरण को बढ़ावा देने के लिए NCC कैडेट्स को आग्रह किया।

श्री धनखड़ ने इस अवसर पर चित्तौड़गढ़ के सैनिक स्कूल में अपने NCC दिनों को याद करते हुए कहा, “यहां की शिक्षा और अनुशासन ने मेरे जीवन को सकारात्मक दिशा में प्रवृत्त किया।”

ये भी पढ़ें: Qatar court: कतर के शीर्ष न्यायालय ने भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारियों को जेल की सजा के खिलाफ अपील के लिए साठ दिन का समय दिया

उपराष्ट्रपति की प्रशंसा NCC कैडेट्स की भागीदारी की

उपराष्ट्रपति ने NCC कैडेट्स की सकारात्मक भागीदारी की प्रशंसा व्यक्त की और उन्हें स्वच्छ भारत अभियान, डिजिटल लेनदेन, बेटी बचाओ-बेटी पढाओ, और पर्यावरणीय योगदान में उनकी प्रभावी भूमिका के लिए सराहा। उन्होंने कहा, “ये कैडेट इसी उत्साह, जोश और समर्पण के साथ कार्य करते रहेंगे ताकि हम वर्ष 2047 तक सही मायनों में विकसित राष्ट्र और विश्व में अग्रणी बना सकें।”

उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने NCC गणतंत्र दिवस शिविर का उद्घाटन करते हुए एक नए भविष्य की दिशा में युवा पीढ़ी को सकारात्मक रूप से मोबाइल किया।

ये भी पढ़ें: Inspiration Program: शिक्षा मंत्रालय ने शुरू किया ‘प्रेरणा: अनुभव पर आधारित शिक्षा कार्यक्रम’

सामान्य प्रश्न (FAQs) NCC गणतंत्र दिवस शिविर 2024 के बारे में:

उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने कहा कि NCC कैडेट क्या हैं और उनमें कौन-कौन सी गुणधर्म समाहित होती हैं?

उत्तर: उपराष्ट्रपति ने बताया कि NCC कैडेट एक नेतृत्व और अनुशासन के साथ संगठित युवा होते हैं, जो समृद्धि और विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इनमें समय की पाबंदी, लचीलापन, निष्ठा, और कड़ी मेहनत जैसी गुणधर्म समाहित होती हैं।

उपराष्ट्रपति ने NCC कैडेट्स को किस प्रकार से उत्पादक और सर्वाधिक मूल्यवान मानव संसाधन बनाने का सुझाव दिया?

उत्तर: श्री धनखड़ ने बताया कि NCC में समय की पाबंदी, लचीलापन, निष्ठा, और कड़ी मेहनत के माध्यम से कैडेट को सक्रिय, उत्पादक और सर्वाधिक मूल्यवान मानव संसाधन बनाया जाता है।

उपराष्ट्रपति के अनुसार, NCC कैडेट्स किस प्रकार से राष्ट्रीय जागरूकता अभियानों में राजदूत के रूप में कार्य कर सकते हैं?

उत्तर: उपराष्ट्रपति ने बताया कि NCC कैडेट्स को राष्ट्रीय जागरूकता अभियानों के राजदूत के रूप में कार्य करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है, जिससे सांस्कृतिक, धार्मिक तथा भौगोलिक क्षेत्रों में एकीकरण को बढ़ावा देने में मदद होगी।

उपराष्ट्रपति के अनुसार, NCC कैडेट्स कैसे स्वच्छ भारत अभियान, डिजिटल लेनदेन, बेटी बचाओ-बेटी पढाओ और पर्यावरणीय योगदान में सक्रिय रूप से भाग ले सकते हैं?

उत्तर: श्री धनखड़ ने बताया कि NCC कैडेट्स ने स्वच्छ भारत अभियान, डिजिटल लेनदेन, बेटी बचाओ-बेटी पढाओ और पर्यावरणीय योगदान में अपनी प्रभावी भूमिका निभाई है, जिसके लिए उन्हें प्रशंसा मिली है।

उपराष्ट्रपति ने भविष्य के लिए कैडेट्स को किस प्रकार से प्रेरित किया है?

उत्तर: उपराष्ट्रपति ने विश्वास जताया है कि NCC कैडेट्स उत्साह, जोश और समर्पण के साथ कार्य करते रहेंगे, ताकि देश को वर्ष 2047 तक सही मायनों में विकसित राष्ट्र और विश्व में अग्रणी बना सकें।

 

Please follow and like us:
error700
fb-share-icon5001
Tweet 20
fb-share-icon20
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर
स्पेशिलिस्ट ऑफिसर के 31 पदों पर नाबार्ड ने निकाली भर्ती उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय ने 535 पदों पर भर्ती निकाली टीजीटी और पीजीटी के 1613 पदों पर भर्ती Indian Navy में 254 ऑफिसर पदों पर भर्ती निकली भर्ती NTPC में 130 पदों पर
Advantages of overseas domestic helper.